Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रूसी डॉक्टर की चेतावनी, कहा- 'दुनिया में फिर से आ सकती है Black Death नाम की महामारी'

रूस (Russia) की एक बड़ी डॉक्टर (Russia Top Doctor) ने दुनिया को चेतावनी दी है कि अगर जल्द ही ग्लोबल वार्मिंग (Global Warming) को कम नहीं किया गया तो ब्यूबोनिक प्लेग (Bubonic Plague) का खतरा (Bubonic Plague Risk) बढ़ जाएगा। बता दें कि इस बीमारी ब्लैक डेथ (Black Death) भी कहा जाता है।

रूसी डॉक्टर की चेतावनी, बोली-  दुनिया में फिर से फैल सकती है Black Death महामारी
X

रूसी डॉक्टर अन्ना पोपोवा (फोटो: ट्विटर)

Black Death : रूस (Russia) की एक बड़ी डॉक्टर (Russia Top Doctor) ने दुनिया को चेतावनी दी है कि अगर जल्द ही ग्लोबल वार्मिंग (Global Warming) को कम नहीं किया गया तो ब्यूबोनिक प्लेग (Bubonic Plague) का खतरा (Bubonic Plague Risk) बढ़ जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रसिया की डॉक्टर अन्ना पोपोवा (Anna Popova) ने कहा 'हम देखते हैं कि ग्लोबल वार्मिंग, कलाइमेट चेंज और पर्यावरण पर अन्य मानवजनित प्रभावों के साथ प्लेग हॉटस्पॉट की सीमाएं बदल रही हैं' उन्होंने कहा कि 'हम जानते हैं कि दुनिया में प्लेग के मामले बढ़ रहे हैं। यह आज के एजेंडे के जोखिमों में से एक है।"

क्या है ब्यूबोनिक प्लेग (Bubonic Plague)

ब्यूबोनिक प्लेग की बीमारी यर्सिनिया पेस्टिस बैक्टीरियम (Yersinia Pestis Bacterium) नाम के एक बैक्टिरिया की वजह से होती है। यह पहले चूहों में शुरू होती है। जब चूहों की मौत हो जाती है तो उससे एक पिस्सू निकालता है। जब यह मनुष्य को काटता है तो एक संक्रामक लिक्विड बॉडी में आ जाता है। फिर लिंफ नोड्स (Lymph nodes) और फेफड़ों पर अटैक करता है। इससे उंगलियां काली पड़ जाती और सड़ने लगती है। ब्यूबोनिक प्लेग से शरीर में तेज बुखार, असहनीय दर्द और नाड़ी तेज चलने लगती है।

ब्लैक डेथ से हो गया था 60% आबादी का सफाया

बता दें कि इस प्लेग से 14 वीं शताब्दी में 200 मिलियन लोग मारे गए थे। जिसे ब्लैक डेथ भी कहा जाता है, उस समय यूरोप की 60% आबादी का सफाया हो गया था। रूस और चीन ने हाल के वर्षों में प्रकोप देखा है, और ऐसा ही अमेरिका ने भी किया है। यह बीमारी दुनिया पर पहले भी तीन बार अटैक कर चुकी है। जिसमें लाखों लोग मारे गए थे।

Next Story