logo
Breaking

यहां जानें स्पेस साइंस कोर्स से संबंधित जानकारी और संस्थान, मिलेगा हर सवाल का जवाब

स्पेस साइंस पढ़ाई रोजगार के बेहतरीन मौके है और यह एक चुनौतीपूर्ण क्षेत्र है। मौसम अथवा ग्रह-उपग्रह के बारे में जानकारी देना सेटेलाइट व नई तकनीक से बहुत आसान हो गया है।

यहां जानें स्पेस साइंस कोर्स से संबंधित जानकारी और संस्थान, मिलेगा हर सवाल का जवाब

स्पेस साइंस पढ़ाई रोजगार के बेहतरीन मौके है और यह एक चुनौतीपूर्ण क्षेत्र है। मौसम अथवा ग्रह-उपग्रह के बारे में जानकारी देना सेटेलाइट व नई तकनीक से बहुत आसान हो गया है।

हर साल इसमें कई नहीं तकनीकी शामिल की जा रही है। इस क्षेत्र में एडवांस कंप्यूटर और सुपर कंप्यूटर से डाटा इकठ्ठा करने का कार्य किया जाता है। इस क्षेत्र में छात्रों की रुची बढ़ रही है।

इंडस्ट्री के जानकारों का भी मानना है कि आने वाले 5 सालों में इसमें रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। स्पेस साइंस के बारें और इसमें करियर के बारे में क्या आप जानते है।

यह भी पढ़ें : एस्ट्रोनॉमी मिलेगी भविष्य को उड़ान, साइंस पसंद है तो ऐसे लगाये अपने सपनो को पंख

सवाल - मैं एमएससी फिजिक्स से कर रहा हूं और स्पेस साइंटिस्ट बनना चाहता हूं। इसके लिए स्पेशल कोर्स कहां संचालित होते हैं? उसके बाद जॉब के अवसर कहां मिलेंगे? -प्रदीप कुमार,

जवाब - खुद को स्पेस साइंटिस्ट की राह पर आगे बढ़ाने के लिए आपको स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी में कोर्स करना होगा। इस तरह के कोर्स देश के कुछ गिने-चुने संस्थानों में उपलब्ध हैं। इनमें तिरुवनंतपुरम स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी, बेंगलुरु स्थित रमन रिसर्च इंस्टीट्यूट, चेन्नई की मद्रास यूनिवर्सिटी, पुणे स्थित इंटर यूनिवर्सिटी फॉर एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स प्रमुख हैं। आप इन संस्थानों की वेबसाइट पर विस्तृत जानकारी हासिल कर सकते हैं।

सवाल - मैंने हिंदी से नेट क्लीयर कर लिया है और जॉब के प्रयास में हूं, लेकिन घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। मुझे क्या करना चाहिए, जिससे कुछ इनकम हो सके?- धीरज, बस्तर

जवाब - किसी भी तरह की निराशा को अपने ऊपर हावी होने देने की बजाय सकारात्मकता के साथ रास्ते तलाशें। तात्कालिक उपाय के रूप में आप कोचिंग या ट्यूशन का सहारा ले सकते हैं। एमपी और छत्तीसगढ़ में पीसीएस परीक्षा के लिए कोचिंग संचालित करने वाले संस्थानों से संपर्क करके हिंदी साहित्य, सामान्य हिंदी पढ़ाने का काम कर सकते हैं।

आपके शहर में ऐसे संस्थान न हों, तो पास के दूसरे बड़े शहर या फिर राजधानी रायपुर जाकर भी इस तरह के काम तलाश सकते हैं। एक बार काम मिल जाने के बाद मेहनत से पढ़ाएं और अपना प्रभाव छोड़ें, ताकि आपकी लोकप्रियता और पूछ बढ़े। इसके साथ ही अपने करियर को आगे बढ़ाने का भी प्रयास करते रहें। उत्साह और मेहनत के साथ काम करेंगे तो आगे की राहें चमकदार हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें : Career Advice: प्रोफेसर बनने के लिए नेट ही काफी नहीं, पास करना होगा ये भी एग्जाम

सवाल - मैं एमकॉम कर रही हूं। इसके बाद गवर्नमेंट जॉब करना चाहती हूं। इसके लिए मुझे एमकॉम के बाद क्या करना चाहिए? कृपया मार्गदर्शन करें। - प्रीति चाचिया

जवाब - आप एसएससी द्वारा आयोजित सीजीएल एग्जाम को क्वालिफाई करके सरकारी नौकरी हासिल कर सकती हैं। एमकॉम के बाद आप चाहें तो चार्टर्ड एकाउंटेंसी, कास्ट एंड वर्क एकाउंटेंसी या कंपनी सेक्रेटरीशिप का कोर्स करके अपनी योग्यता बढ़ा सकती हैं। इ

सके बाद यूपीएससी या राज्य लोक सेवा आयोग के जरिए उपयुक्त पद पर नियुक्ति पा सकती हैं। सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने और अध्यापन के क्षेत्र में जाने का विकल्प भी है। प्राइवेट सेक्टर में जीएसटी में स्पेशलाइजेशन करके जीएसटी प्रैक्टिशनर के रूप में भी काम कर सकती हैं।

सवाल - मैंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग (प्रोडक्शन) में डिप्लोमा किया है। आगे मुझे क्या करना चाहिए? जेई की तैयारी करना सही होगा या प्राइवेट जॉब? -आशुतोष कुमार,

जवाब - अगर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में मन लगा सकते हैं, तो बेहतर होगा कि रेलवे या अन्य विभागों द्वारा जेई पद के लिए होने वाली परीक्षा को क्वालिफाई करने का प्रयास करें। अगर ऐसा नहीं है, तो बेशक प्राइवेट सेक्टर की जॉब तलाश सकते हैं।

वैसे अगर निजी क्षेत्र में भी अच्छी तरक्की चाहते हैं तो इंडस्ट्री की बदलती जरूरतों के अनुसार खुद को टेक्निकली अपडेट रखने की लगातार कोशिश करें। हो सके तो इनोवेशन की तरफ भी दिमाग दौड़ाएं। इसमें कामयाबी मिलने पर आपको अलग पहचान मिल सकती है।

Share it
Top