Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

करियर एडवाइस : आईएएस बनना चाहते हैं तो 11वीं में चुनें ये विषय, अन्य नौकरियों के लिए अपनायें ये रणनीति

यदि आप प्रशासनिक सेवाओं में जाना चाहते हैं। भविष्य में आईएएस बनने की सोच रहे हैं तो दसवीं पास करते ही विषय चुनने के प्रति सतर्क रहना होगा। इसके अलावा अन्य नौकरियों के लिए खुद को अभी से तैयार करना होगा।

करियर एडवाइस : आईएएस बनना चाहते हैं तो 11वीं में चुनें ये विषय, अन्य नौकरियों के लिए अपनायें ये रणनीति

विद्यार्थियों के सामने स्कूल की पढ़ाई के दौरान बड़ा मुश्किल होता है कि वो अपने करियर को लेकर कोई फैसला करें। कई बार छात्र फैसला कर लेते हैं कि उन्हें क्या बनना है। लेकिन सही गाइडेंस नहीं मिल पाने की वजह से ठीक विषयों का चुनाव नहीं कर पाते। ऐसे में हम आपको बताएंगी कि यदि आप प्रशासनिक सेवाओं में जाना चाहते हैं। इसके अलावा अन्य नौकरियों के लिए खुद को कैसे तैयार करें।

मैं बारहवीं कॉमर्स से कर रहा हूं। मैं क्रिकेटर भी हूं, लेकिन समझ नहीं पा रहा हूं कि क्या करूं?

-प्रकाश, ईमेल से

मैं यही कहना चाहूंगा कि सबसे पहले अपनी रुचियों के बारे में अच्छी तरह सोच-विचार कर लें। चाहें तो इसे और अच्छी तरह समझने के लिए अपनी गतिविधियों, व्यवहार आदि का अगले एक-दो सप्ताह तक अच्छी तरह अवलोकन करें। अपने माता-पिता, भाई-बहनों से भी पूछें कि उन्होंने बचपन से आज तक आपके भीतर वे कौन-कौन सी खूबियां देखी हैं, जिन्हें निखारते हुए करियर की दिशा दी जा सकती है। अगर क्रिकेट का जुनून है, तो निश्चित रूप से इस फील्ड में भी जी-जान से प्रयास करना चाहिए, ताकि बेहतर मुकाम की ओर बढ़ सकें। जो भी फील्ड चुनें, उसमें पूरी लगन, समर्पण और मेहनत से काम करेंगे, तो कामयाबी आपके पीछे-पीछे चलेगी।

मैं बीए कर रहा हूं। गवर्नमेंट सेक्टर में ग्रुप ए, बी, सी और डी जॉब में क्या अंतर है? इनके लिए आवेदन करने की क्वालिफिकेशन क्या होती हैं?

-शशिकांत, गरियाबंद

गवर्नमेंट सेक्टर के विभिन्न मंत्रालयों/विभागों में अधिकारी, क्लर्क से लेकर चतुर्थ श्रेणी यानी ग्रुप डी के पदों का प्रावधान होता है। ग्रुप ए गजटेड यानी राजपत्रित पद होते हैं, जैसे आईएएस-आइपीएस अधिकारी, केंद्रीय/राज्य यूनिवर्सिटी-कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर और उनके ऊपर भी गजटेड अधिकारी माने जाते हैं। सेक्शन ऑफिसर और समकक्ष पद ग्रुप बी के होते हैं। क्लर्क के पद ग्रुप सी के होते हैं, जबकि पीयून, खलासी आदि के पद ग्रुप डी के होते हैं। सामान्यतया ग्रुप ए और बी के पदों की सीधी भर्ती हेतु आवेदन करने के लिए न्यूनतम योग्यता स्नातक होती है। ग्रुप सी के लिए कहीं स्नातक तो कहीं बारहवीं भी होती है। ग्रुप डी के लिए आमतौर पर आठवीं/दसवीं पास होना मांगा जाता है।

मैंने दसवीं की परीक्षा सीबीएसई से दी है। आईएएस ऑफिसर बनना चाहता हूं। मेरा पसंदीदा विषय मैथ्स है। मुझे 11वीं में किस स्ट्रीम का चयन करना चाहिए?

-राकेश, ईमेल से

आगे की स्ट्रीम के बारे में कोई भी निर्णय लेने से पहले अपनी पसंद-नापसंद के बारे में अच्छी तरह से विचार कर लें। इस बारे में अपने परिजनों, टीचर और दोस्तों से मशविरा करना भी उपयोगी हो सकता है। आप आगे मैथ्स के साथ पढ़ाई करते हुए भी आईएएस की तैयारी की दिशा में खुद को बढ़ा सकते हैं। ग्रेजुएशन के आधार पर आईएएस यानी सिविल सेवा परीक्षा में शामिल होने पर प्री क्वालिफाई करने के बाद मुख्य परीक्षा में एक एच्छिक विषय के रूप में मैथ्स रख कर अपने स्कोर को बेहतर कर सकते हैं। हां, मैथ्स से उच्च शिक्षा हासिल करने से आपके पास प्लान बी भी रहेगा।

मैंने बीबीए करने के अलावा पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन फायर एंड सेफ्टी मैनेजमेंट भी किया है। मुझे अब आगे क्या करना चाहिए? मैं विदेश जाना चाहता हूं। क्या यह उचित होगा या फिर मुझे आगे और पढ़ाई करनी चाहिए?

-आदित्य, अंबिकापुर

आप अपनी योग्यताओं के आधार पर नौकरी के लिए प्रयास आरंभ कर सकते हैं। फिलहाल अभी कोरोना संकट के कारण स्थितियां ठीक नहीं हैं, लेकिन कुछ समय बाद स्थितियां सामान्य होने के बाद आप प्रयास में जुट सकते हैं। जहां तक विदेश जाकर करियर बनाने की बात है, तो फिलहाल वर्तमान हालात को देखते हुए आपको इस साल तक के लिए तो यह विचार त्याग ही देना चाहिए। आगे सब कुछ सामान्य होने के बाद आप इस बारे में सोच सकते हैं।

Next Story
Top