logo
Breaking

CBSE: 2018 से नहीं मिला करेंगे स्टूडेंट्स को एक्सट्रा मार्क्स, खत्म होगी मॉडरेशन पॉलिसी

अभी तक इस पॉलिसी के तहत कठिन प्रश्नपत्र होने पर कुछ पेपर्स में 15 फीसदी तक अधिक अंक दिए जा सकते थे, ताकि छात्र फेल ना हों।

CBSE: 2018 से नहीं मिला करेंगे स्टूडेंट्स को एक्सट्रा मार्क्स, खत्म होगी मॉडरेशन पॉलिसी
मानव संसाधन विकास मंत्रालय 2018 तक वर्तमान मॉडरेशन पॉलिसी को खत्म करने के योजना बना रहा है। अभी तक इस पॉलिसी के तहत कठिन प्रश्नपत्र होने पर कुछ पेपर्स में 15 फीसदी तक अधिक अंक दिए जा सकते थे, ताकि छात्र फेल ना हों।
अब बोर्ड पहले से ज्यादा साइंटिफिक मॉडरेशन पॉलिसी लागू करने की योजना बना रहा है। हालांकि, सीबीएसई बोर्ड में छात्रों को ग्रेस मार्क्स देने की इस पॉलिसीको इस साल से ही खत्म करने का फैसला ले लिया था।
लेकिन कुछ अभिवावक और छात्र बोर्ड के इस फैसले के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट चले गए। दिल्ली हाईकोर्ट ने बोर्ड के इस फैसले पर रोक लगा दी। इसी वजह से इस बार सीबीएसई बोर्ड के नतीजे काफी समय बाद आए।
वर्तमान में जारी मॉडरेशन पॉलिसी को खत्म करने के लिए एचआरडी मंत्रालय ने एक इंटर बोर्ड वर्किंग ग्रुप बनाया है जिसमें 8 बोर्ड्स शामिल हैं, जो इस पॉलिसी पर रोक लगाने के लिए प्लान तैयार करेंगे।
इस सिलसिले में एचआरडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'योजना के मुताबिक इस साल मॉडरेशन पॉलिसी को खत्म नहीं किया जा सका। अगले साल तक इस योजना पर सभी बोर्ड्स अमल करें, हम इस दिशा में काम कर रहे हैं।'
उन्होंने कहा, 'वास्तव में सभी बोर्ड्स अगले साल से नंबर बढ़ाकर देने की परंपरा को खत्म करने के लिए तैयार हो गए हैं। कुछ बोर्ड्स ने इस साल से इस नियम को लागू करने को लेकर 24 अप्रैल, 2017 को हुई मीटिंग में कुछ समस्याएं गिनाई थीं लेकिन 2018 से इसे लागू करने के लिए सभी तैयार हैं।'
Share it
Top