Logo
election banner
Paytm Crisis: आरबीआई के प्रतिबंधों का सामना कर रही Paytm अपने वॉलेट बिजनेस को बेचने पर विचार कर रही है। यह पेटीएम पेमेंट्स बैंक का हिस्सा है।

Paytm Crisis: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के प्रतिबंधों के बाद विजय शेखर शर्मा की कंपनी वन97 कम्युनिकेशन की सहयोगी Paytm अपना वॉलेट बिजनेस बेचने की तैयारी कर रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से खबर है कि पेटीएम ने पिछले साल नवंबर से रिलायंस ग्रुप की कंपनी जियो फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (JFSL) से बिजनेस डील पर चर्चा शुरू की थी। बता दें कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर 29 फरवरी के बाद नए डिपॉजिट स्वीकार करने पर रोक है। यह प्रतिबंध पेटीएम वॉलेट और फास्टैग पर भी लागू होगा। तीन कारोबारी सत्रों में कंपनी के शेयर औंधे मुंह गिरे हैं।

KYC से जुड़े मामले Paytm का सिर दर्द बने
रिपोर्ट में एक बैंकर ने दावा किया है कि पेटीएम पेमेंट बैंक में केवायसी (KYC) से जुड़े मसलों के चलते 2022 से पहले पेटीएम का वॉलेट बिजनेस को तवज्जो देना कम होता गया। अगर कंपनी का वैल्यूएशन बढ़िया रहा तो Jio के साथ वॉलेट बिजनेस की यह डील फाइनल हो सकती है। पेटीएम चाहती है इस डील के बाद उसका कारोबार बिना किसी बाधा के चलता रहे। 

Paytm ने एचडीएफसी से भी किया था संपर्क
रिपोर्ट के मुताबिक, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के प्रतिबंधों से पहले Paytm ने वॉलेट बिजनेस की डील को लेकर HDFC बैंक से भी संपर्क किया था। एचडीएफसी के डिजिटल वॉलेट Payzapp के देशभर में करीब 1.4 करोड़ यूजर्स हैं। हालांकि, अभी जियो फाइनेंशिय इस सेक्टर में बड़ा दखल नहीं रखती है, लेकिन वॉलेट बिजनेस से कंपनी को बड़ा मुनाफा हो सकता है।

जियो फाइनेंशियल के शेयरों में आई तेजी
पेटीएम वॉलेट डील की खबर आने पर स्टॉक एक्सचेंज पर जियो फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड के शेयरों में तेजी देखी गई। बीएसई पर इसके शेयर 15.74% बढ़कर 295 रुपए पर पहुंच गया। जबकि HDFC बैंक के शेयर 1,446.25 रुपए पर बंद हुआ।

पेटीएम के शेयर में बड़ी गिरावट, लोअर सर्किट
पेटीएम पेमेंट बैंक के खिलाफ रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के कड़े प्रतिबंधों का असर पेटीएम के शेयरों पर पड़ा है। पिछले तीन कारोबारी सत्रों में Paytm की पेरेंट कंपनी वन97 कम्युनिकेशन के शेयर में जबरदस्त बिकवाली देखने को मिल रही है। 31 जनवरी 2024 के बाद से Paytm के शेयरों में करीब 46% से की गिरावट आ चुकी है। शेयर लगातार लोअर सर्किट पर चल रहे हैं और अब तक के सबसे निचले स्तर (438.50 रुपए) पर पहुंच गए। (क्या है एक्सपर्ट्स की राय... पढ़ें पूरी खबर)

5379487