Logo
election banner
MDH-Everest Spice: विदेशो में भारतीय मसाला ब्रांड्स के प्रोडक्ट्स की जांच के बाद देश की केंद्रीय एजेंसियों ने एमडीएच और एवरेस्ट प्लांट का निरीक्षण किया और जांच के लिए सैंपल भेजे हैं। अभी नतीजों का इंतजार है।

MDH-Everest Spice: भारतीय मासाला ब्रांड्स दुनिया के कई देशों में जांच का सामना कर रहे हैं। बुधवार को न्यूजीलैंड के खाद्य सुरक्षा नियामक ने बताया कि दूसरे देशों में जांच के बाद वह टॉप भारतीय ब्रांड एमडीएच और एवरेस्ट के मसाला प्रोडक्ट्स में संभावित मिलावट की जांच कर रहा है। अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में भी एजेंसियां इन प्रोडक्ट्स की जांच कर रही हैं। 

सिंगापुर ने एवरेस्ट मसाला मिक्सचर वापस भेजा  
बता दें कि हांगकांग ने पिछले महीने एमडीएच के 3 मसाला मिक्सचर और एवरेस्ट के एक मसाला मिक्सचर की बिक्री पर रोक लगाई थी। इसके पीछे स्थानीय अथॉरिटी ने दावा किया था कि इन प्रोडक्ट्स में कैंसर पैदा करने वाले केमिकल एथिलीन ऑक्साइड की मात्रा मानकों से अधिक थी। सिंगापुर ने एवरेस्ट मसाला मिक्सचर को वापस भेजना का आदेश दिया था। 

अधिकारियों बोले- न्यूजीलैंड में एथिलीन ऑक्साइड बैन
रॉयटर्स को दिए बयान में न्यूजीलैंड के खाद्य सुरक्षा नियामक ने कहा कि उन्हें विदेशी रिकॉल की जानकारी है। अधिकारियों ने कहा कि एथिलीन ऑक्साइड एक केमिकल है, जो इंसानों में कैंसर का कारण बनता है। खाने-पीने की चीजों को स्टरलाइज़ करने के लिए इसका उपयोग न्यूजीलैंड और अन्य देशों में बंद हो चुका है। चूंकि एमडीएच और एवरेस्ट मसाले न्यूजीलैंड में भी मिलते हैं, इसलिए हम इस मुद्दे पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं।

भारतीय एजेंसियों ने लिए एमडीएच, एवरेस्ट के सैंपल  
हालांकि, नई जांच को लेकर सवाल पूछने पर एमडीएच और एवरेस्ट ने अपनी ओर से तुरंत कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। कंपनियों का कहना है कि उनके प्रोडक्ट उपयोग के लिए पूरी तरह से सुरक्षित हैं। भारत में रेगुलेटर्स ने एमडीएच और एवरेस्ट प्लांट का निरीक्षण किया है और वैश्विक जांच के बाद सैंपल टेस्ट के लिए भेजे हैं। हालांकि, अभी तक रिपोर्ट सामने नहीं आई है।

अमेरिका, यूरोप, मिडिल ईस्ट समेत कई देशों में एक्सपोर्ट 
बता दें कि दशकों से एमडीएच और एवरेस्ट भारत में घरेलू नाम रहे हैं। उनके प्रोडक्ट अमेरिका, यूरोप, दक्षिण पूर्व एशिया, मिडिल ईस्ट और ऑस्ट्रेलिया में भी एक्सपोर्ट किए जाते हैं। एमडीएच ने 2021 के बाद से अपने यूएस का औसत 14.5 प्रतिशत भी दर्ज किया। रायटर्स ने यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन डेटा का एनालिसिस किया। इसमें पता चला है कि साल्मोनेला बैक्टीरिया की उपस्थिति के कारण शिपमेंट को अमेरिका ने लेने से मना कर दिया था।

5379487