Logo
election banner
फोर्ड ने हाल ही में अपनी एक इलेक्ट्रिक कार का ट्रेडमार्क रजिस्टर्ड करवाया है। इससे संकेत लगते हैं कि जल्द अमेरिकी कंपनी

अमेरिकी ऑटोमेकर फोर्ड ने हाल ही में भारतीय बाजार में अपनी फेमस एसयूवी Endeavour का नाम फिर से पेटेंट करवाया था। इसके बाद कंपनी ने अपनी एक और नई कार का नेमप्लेट रजिस्टर करवाया है। फोर्ड की ये तैयारियां इस बात का संकेत दे रही हैं कि कंपनी एक बार फिर से जल्द ही भारतीय सड़कों पर फर्राटा भरने को तैयार है। कंपनी ने 2 साल पहले यहां से अपना कारोबार समेट लिया था। वहीं, अब फिर से फोर्ड की एंट्री की सुगबुगाहट तेज होती दिख रही है। 
 
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, Endeavour के बाद कंपनी ने भारत में अपनी एक और कार Mustang Mach-E का ट्रेडमार्क रजिस्टर करवाया है। गौरतलब है कि फोर्ड द्वारा स्थानीय प्रोडक्शन बंद करने के बाद Mustang ही पहली कार थी, जिसको यहां के बाजार में उतारने की चर्चा चल रही थी। बहरहाल फोर्ड की वापसी के कई और भी संकेत मिलते हैं, जिसके आधार पर कहा जा सकता है कि कंपनी ने अपने लिए भारत वापसी के रास्ते खुले रखे हैं।  

चेन्नई प्लांट को लेकर U टर्न 

फोर्ड ने जब भारत से कारोबार समेटा तो उसके बाद से चेन्नई स्थित फोर्ड के प्लांट पर कई दिग्गज वाहन निर्माताओं की नजरें आ गड़ी थीं। जिसमें टाटा मोटर्स से लेकर एमजी मोटर का नाम सबसे आगे था। यहां तक कि जल्द ही भारत में अपने सफर की शुरुआत करने वाली वियतनामी इलेक्ट्रिक कार कंपनी विनफास्ट भी इस प्लांट को खरीदने में अपनी दिलचस्पी दिखाई थी लेकिन फोर्ड ने आखिरी समय में चेन्नई प्लांट को बेचने की योजना से यू टर्न ले लिया। 

बताया जा रहा है कि फोर्ड इंडिया चेन्नई प्लांट को बेचने के अपने फैसले पर पुनर्विचार कर रही है। और निर्यात के लिए या भारतीय बाजार में वापसी के लिए इस फेसिलिटी का उपयोग करने के विकल्पों का मूल्याकंन कर रही है क्योंकि फोर्ड ने हाल ही में JSW समूह के साथ सौदा रद्दा कर दिया था। ऐसा माना जा रहा है कि इस प्लांट को बेचने की योजनाओं पर विराम लगाकर फोर्ड अपने लिए रास्ता खुला रखना चाहती है। 

 

jindal steel Ad
5379487