Logo
election banner
Taiwan earthquake:ताइवान में बुधवार 3 अप्रैल को आए जोरदार भूकंप के बाद दो भारतीय लापता हो गए हैं।  दोनों भारतीयों को आाखिरी बार भूकंप के केंद्र रहे तारोको गॉर्ज के पास देखा गया था। बचावकर्मी दोनों की तलाश में जुटे हैं।

Taiwan earthquake:ताइवान में आए जोरदार भूकंप के बाद दो भारतीय लापता हो गए हैं। ताइवान की राजधानी ताइपे में बुधवार 3 अप्रैल की सुबह भूकंप आया। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 7.4 मापी गई है। लापता भारतीय व्यक्तियों की तलाश जारी है। दोनों भारतीयों को आाखिरी बार भूकंप के केंद्र रहे तारोको गॉर्ज के पास देखा गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ताइवान में बीते 25 साल में इतना विनाशकारी भूकंप पहली बार आया है।

भूकंप से अब तक नौ लोगों की मौत
इस प्राकृतिक आपदा में पूरे ताइवान में कम से कम नौ मौतें हुईं  हैं और 1,000 से अधिक लोग घायल हुए हैं। भूकंप का केंद्र ग्रामीण, पहाड़ी हुलिएन काउंटी के तट पर था, जिससे इमारतों को गंभीर नुकसान हुआ। राजधानी ताइपे में, पुरानी इमारतों को नुकसान हुआ है। इस भूकंप की वजह का असर देश की ट्रेन सेवाओं पर हुआ, बिजली आपूर्ति बाधित हुई। 

इमारतों में फंसे लोगों को निकाला जा रहा
इमारतों में फंसे लोगों को राहत बचाव एजेंसियों की मदद से बाहर निकालने की कवायद जारी है। बचाव दल ग्रामीण इलाके हुलिएन में इमारतों के मलबे में फंसे हुए लोगों की तलाश कर रहे हैं। भारी मशीनरी का उपयोग करके मलबे को हटाया जा रहा है। जैसे-जैसे रेस्क्यू ऑपरेशन आगे बढ़ रहा हैं लापता या फंसे हुए लोगों की संख्या में उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है। 

दो खदानों से सुरक्षित बचाए गए 70 मजदूर
ताइपेई से करीब 93 किलोमीटर की दूरी पर स्कूल की इमारत क्षतिग्रस्त हो गई। हालांकि, स्कूल में पढ़ रहे किसी भी बच्चे को नुकसान नहीं हुआ। एपी की रिपोर्ट के मुताबिक दो खदानों में फंसे 70 मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकाला गया। पहले इन खदानों में मजदूरों के दबे होने की आशंका जाहिर की थी। ताइवान की फायर एजेंसियों के मुताबिक, सभी मजदूर समय खदानों से बाहर निकल आए थे और सुरक्षित थे, लेकिन उनतक पहुंचने का रास्ता पत्थरों के गिरने की वजह से ब्लॉक हाे गया था। यहां से 6 मजदूरों को एयरलिफ्ट किया गया। 

मैंने जीवन में ऐसे झटके महसूस नहीं किए: प्रत्यक्षदर्शी
एक स्थानीय निवासी हने सेन केंग (Hsien-hsuen Keng) ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा- मैं भूकंप के झटके महसूस करते हुए बड़ा हुआ हूं। लेकिन, यह पहला माैका रहा जब भूकंप ने मेरी आंखों में आंसू ला दिए थे। तेज भूकंप आने के बाद मेरी नींद खुली। मैंने अपने जीवन में कभी भी ऐसा झटका महसूस नहीं किया। भूकंप की वजह से ताइवान में 24 जगहों पर लैंडस्लाइड हुआ है, जिससे पुलों और सड़कों और सुरंगों को नुकसान पहुंचा है।

jindal steel Ad
5379487