Logo
election banner
China AI may influence Lok Sabha Election: दुनिया भर में यूरोपीय संघ के अलावा 64 देशों में राष्ट्रीय चुनाव होने की उम्मीद है। इन देशों में सामूहिक रूप से वैश्विक आबादी का लगभग 49 प्रतिशत हिस्सा रहता है।

China AI may influence Lok Sabha Election: देश में 19 अप्रैल से वोटिंग के साथ लोकसभा चुनाव शुरू हो जाएंगे। अभी नामांकन चल रहे हैं। इस बीच माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने एक बड़ी चेतावनी भारत सरकार को दी है। जिसमें चीन की साजिश का पर्दाफाश किया गया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि चीन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करके लोकसभा चुनाव में वोटर्स को प्रभावित करने की फिराक में है। जिससे नतीजे पलट सकते हैं। इससे पहले भी सरकार को अलर्ट मिला था कि चीनी हैकर्स एआई टूल्स के जरिए चुनाव को प्रभावित करना चाहते हैं।  

माइक्रोसॉफ्ट ने चीनी साजिश से न सिर्फ भारत बल्कि संयुक्त राज्य अमेरिका और दक्षिण कोरिया को भी अलर्ट किया है। इन देशों में भी आगामी दिनों में चुनाव होने हैं। यह चेतावनी तब आई है जब चीन ने जनवरी 2024 में ताइवान के राष्ट्रपति चुनाव के दौरान नतीजों को प्रभावित करने के लिए एआई का प्रयोग कर परीक्षण किया था।

बिल गेट्स ने की थी पीएम मोदी से मुलाकात
पिछले महीने माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स ने नई दिल्ली में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और सामाजिक कारणों, महिलाओं के नेतृत्व वाले विकास और स्वास्थ्य और कृषि में नई तकनीक अपनाने के लिए एआई के उपयोग पर चर्चा की।

दुनिया भर में यूरोपीय संघ के अलावा 64 देशों में राष्ट्रीय चुनाव होने की उम्मीद है। इन देशों में सामूहिक रूप से वैश्विक आबादी का लगभग 49 प्रतिशत हिस्सा रहता है।

खास पार्टी का लिया जाएगा पक्ष
माइक्रोसॉफ्ट की खुफिया टीम के अनुसार, चीन सरकार समर्थित साइबर ग्रुप उत्तर कोरिया की मदद से 2024 में होने वाले कई चुनावों को टारगेट कर सकते हैं। माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि चीन जनता की राय को प्रभावित करने के लिए सोशल मीडिया के माध्यम से एआई से तैयार वीडियो-ऑडियो और मीम्स तैयार करेगा। इन चुनावों के दौरान वह एक खास पार्टी का पक्ष लेगा। 

ताइवान चुनाव में सक्रिय था स्टॉर्म 1376 ग्रुप
माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि ताइवान के चुनाव के दौरान बीजिंग समर्थित स्टॉर्म 1376 या स्पैमौफ्लेज समूह एक्टिव था। इस ग्रुप ने कई ऐसे कंटेंट बनाए, जिसने मतदाताओं को प्रभावित किया। इसमें कुछ उम्मीदवारों को बदनाम किया गया। ईरान भी कई टीवी एंकर्स के डीपफेक वीडियो बनाकर यह रणनीति अपना चुका है। 

स्टॉर्म-1376 ने ताइवान के तत्कालीन डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (डीपीपी) के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार विलियम लाई और अन्य ताइवानी अधिकारियों के साथ-साथ दुनिया भर के चीनी असंतुष्टों के एआई-जनित मीम्स की एक सीरीज को बढ़ाया। माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि स्टॉर्म-1376 ने कम से कम फरवरी 2023 से टीवी समाचार एंकर तैयार किए हैं।

कब आएंगे लोकसभा चुनाव के नतीजे?
देश में लोकसभा चुनाव 19 अप्रैल को शुरू होंगे। नतीजे 4 जून को आएंगे। चुनावी सात चरणों में होगा। चुनाव आयोग ने फेक न्यूज की तुरंत पहचान करने और उन पर प्रतिक्रिया देने के लिए तैयारी की है।

पिछले महीने चैटजीपीटी के डेवलपर ओपनएआई के प्रतिनिधियों ने चुनाव आयोग के सदस्यों से मुलाकात की और आगामी चुनावों में एआई के दुरुपयोग को रोकने के लिए किए जा रहे उपायों की रूपरेखा बताते हुए आयोग के सदस्यों को एक प्रजेंटेशन दिया है। 

5379487