Logo
Italy Parliament Fight: जी-7 शिखर सम्मेलन से पहले, इटली की संसद में 13 जून को भारी हंगामा हुआ। सत्ता पक्ष और विपक्ष के संसद एक दूसरे से भिड़ गए। जमकर हाथापाई हुई। फाइव स्टार मूवमेंट (MS5) के डिप्टी लियोनार्डो डोनो इस हाथापाई में इतने जख्मी हो गए कि उन्हें व्हीलचेयर में बिठाकर अस्पताल ले जाना पड़ा।

Italy Parliament Fight: जी-7 शिखर सम्मेलन से पहले, इटली की संसद में 13 जून को भारी हंगामा हुआ। सत्ता पक्ष और विपक्ष के संसद एक दूसरे से उत्तरी क्षेत्र को स्वायत्ता देने के मुद्दे पर भिड़ गए। जमकर हाथापाई हुई। फाइव स्टार मूवमेंट (MS5) के डिप्टी लियोनार्डो डोनो इस हाथापाई में इतने जख्मी हो गए कि उन्हें व्हीलचेयर में बिठाकर अस्पताल ले जाना पड़ा। संसद में हुए विवाद ने देश में राजनीतिक तनाव को बढ़ा दिया है। यह विवाद तब शुरू हुआ जब फाइव स्टार मूवमेंट (MS5) के डिप्टी लियोनार्डो डोनो ने उत्तरी लीग के मंत्री रॉबर्टो काल्डेरोली के गले में इतालवी झंडा बांधने की कोशिश की।

कैसे हुई विवाद की शुरुआत
बुधवार शाम को इटली की संसद में हाथापाई उस समय शुरू हुई हुई जब फाइव स्टार मूवमेंट के डिप्टी लियोनार्डो डोनो ने स्वायत्तता समर्थक उत्तरी लीग के मंत्री रॉबर्टो काल्डेरोली के गले में इतालवी झंडा बांधने की कोशिश की। डोर्नो ने स्वायत्तता देने की योजना का विरोध करते हुए ऐसा करने की कोशिश की। संसद में हुई इस घटना मीडिया समेत कई वर्गों ने इटली की एकता को कमजोर करने वाला बताया। इस घटना के बाद, उत्तरी लीग के दूसरे डिप्टी यानी की मंत्री डोनो पर हमला करने के लिए उठ खड़े हुए, और लगभग 20 लोगों ने उनके साथ हाथापाई शुरू कर दी। 

घायल सांसद ने बयां की आपबीती
हाथापाई के दौरान घायल हुए डोनो को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। डोनो ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि उनका इरादा सिर्फ झंडा देने का था। लेकिन इस बात के लिए मुझ पर हमला कर दिया। इस हमले मे मुझे गंभीर चोटें आईं। डोनो ने कहा कि मुझे कई बार लात मारी गई। मेरी छाती पर भी लातों से जोरदार वार किया गया, जिससे मेरा दम फूलने लगा और और मैं गिर गया।

विदेश मंत्री ने की घटना की निंदा
इस घटना ने इटली में राजनीतिक हलचल मचा दी। विदेश मंत्री एंटोनियो तजानी ने इस हिंसा की निंदा की और कहा कि राजनीतिक समस्याओं को हल करने के लिए  झगड़े का सहारा नहीं लेना चाहिए। तजानी ने स्काई टीजी24 न्यूज से कहा, "चैंबर कोई मुक्केबाजी रिंग नहीं है... मुक्केबाजी से राजनीतिक समस्याओं का समाधान नहीं किया जा सकता है। 

जी-7 शिखर सम्मेलन पर प्रभाव
यह घटना इटली में चल रहे राजनीतिक तनाव और पुगलिया में होने वाले जी-7 शिखर सम्मेलन से पहले हुई। गुरुवार से शनिवार तक चलने वाले इस शिखर सम्मेलन में यूरोपीय यूनियन के प्रमुख नेता, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन समेत छह अन्य औद्योगिक देशों के नेता शामिल होंगे। पीएम मोदी भी इस समिट में हिस्सा लेने के लिए इटली पहुंच गए हैं। इस समिट में मुख्य रूप से वैश्विक मुद्दों, विशेष रूप से यूक्रेन में हो रहे युद्ध पर चर्चा होगी। 

संसद में हुई हाथापाई पर मीडिया ने क्या कहा?
हाथापाई में डोनो घायल हो गए। उन्हें बाद में व्हीलचेयर पर बिठाकर संसद से अस्पताल ले जाया गया। इस घटना की इटली की विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने आलोचना की है। इटली के समाचार पत्रों के पहले पन्ने पर यह खबर छाई रही। कई लोगों ने निर्वाचित प्रतिनिधियों द्वारा की गई इस करतूत की आलोचना की। अखबार ला रिपब्लिका ने इस घटना को लेकर लिखा कि , "संसद में स्क्वाड्रिस्ट राइट लड़ रहा है", यह शब्द प्रथम विश्व युद्ध के बाद के अर्धसैनिक बलों का वर्णन करने के लिए इस्तेमाल किया गया, जो फासीवादी नेता बेनिटो मुसोलिनी के समर्थन में काली कमीज पहना करते थे। इटली के डेली न्यूजपेपर कोरिएरे डेला सेरा ने लिखा कि सदन एक "बॉक्सिंग रिंग" में बदल गया है।

संसद में हुई इस घटना पर क्या बोले नेता
लीग और ब्रदर्स ऑफ इटली के सांसदों ने डोनो पर घटना को भड़काने और अपनी चोटों को झूठा बताने का आरोप लगाया। M5S ने "गंभीर और शर्मनाक हमले" की निंदा की और तत्काल उपाय करने का आह्वान किया। इसके नेता ग्यूसेप कोंटे ने सोशल मीडिया पर लिखा, "मेलोनी बहुमत की बेंचों से हिंसा आती है... शर्म की बात है।विदेश मंत्री एंटोनियो तजानी ने स्वीकार किया कि सांसदों को खुद का हाई स्टैंडर्ड बनाए रखना चाहिए और कहा कि नेताओं को "पूरी तरह से अलग उदाहरण स्थापित करना होगा।"

स्वायत्तता प्रस्ताव पर चल रहा है विवाद
आलोचकों का कहना है कि स्वायत्तता प्रस्ताव के परिणामस्वरूप सबसे गरीब क्षेत्रों में सार्वजनिक सेवाओं में कटौती होगी। गरीब क्षेत्रों को सरकार की ओर से चलाई जा रही कई योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाएगा। ऐसा नहीं है कि यह पहला मौका है जब इटली के संसद में विवाद हुआ था। 2021 में, ब्रदर्स ऑफ इटली के प्रतिनिधियों ने कोविड-19 हेल्थ पास पर बहस को बाधित करने के लिए चैंबर का घेराव किया था।

jindal steel Haryana Ad hbm ad
5379487