Logo
France Elections 2024: राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के कार्यालय की ओर से कहा गया है कि प्रेसिडेंट नई नेशनल असेंबली के गठित होने का इंतजार करेंगे और उसके बाद ही नई सरकार पर कोई फैसला लेंगे। 

France Elections 2024: फ्रांस के संसदीय चुनावों में बड़ा उलटफेर सामने आया है। यहां वामपंथी गठबंधन (लेफ्ट गुट) सबसे अधिक संसदीय सीटें जीतने में कामयाब रहा, मैक्रों का मध्यमार्गी गठबंधन दूसरे स्थान पर और दक्षिणपंथी (राइट गुट) तीसरे स्थान पर रहा। चुनाव में किसी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला, मैक्रों को सरकार चलाने के लिए गठबंधन की जरूरत होगी।

AP की रिपोर्ट के मुताबिक, हालिया रनऑफ चुनावों में वामपंथी गठबंधन ने सबसे अधिक संसदीय सीटें हासिल की हैं। यह अलायंस दक्षिणपंथियों को सत्ता में आने से रोकने के लिए बना था। राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का मध्यमार्गी गठबंधन दूसरे स्थान पर रहा। संसदीय सीटों में अहम बढ़ोतरी के बावजूद राइट विंग गुट अपेक्षाओं से कम रहे। वामपंथी गठबंधन ने कम से कम 181 सीटें, मैक्रों के मध्यमार्गी गठबंधन ने 160 से अधिक सीटें जीतीं। जबकि मरीन ले पेन की दक्षिणपंथी नेशनल रैली ने शुरुआती बढ़त के बाद 143 सीटें हासिल कीं, लेकिन किसी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला। चुनाव परिणामों का यूक्रेन युद्ध, वैश्विक कूटनीति और यूरोप की आर्थिक स्थिरता पर बड़ा असर देखने को मिला है। 

सरकार चलाने के लिए मैक्रों को करना पड़ेगा गठबंधन
इस बीच, राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के कार्यालय की ओर से कहा गया है कि प्रेसिडेंट नई नेशनल असेंबली के गठित होने का इंतजार करेंगे और उसके बाद ही नई सरकार पर कोई फैसला लेंगे। नेशनल असेंबली 18 जुलाई को पहली बार पूर्ण सत्र में एकत्र होगी। बयान में कहा गया है कि मैक्रों यह सुनिश्चित करेंगे कि फ्रांसीसी जनता की संप्रभु पसंद का सम्मान किया जाएगा।

लेफ्ट गुट ने प्रधानमंत्री के इस्तीफे की मांग की
चुनावों में एक रिकॉर्ड संख्या में योग्य उम्मीदवारों ने नेशनल रैली कैंडिडेट्स के खिलाफ विपक्षी समर्थन को मजबूत करने के लिए अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली, जिससे उन्हें हराने के मौके बढ़ गए। इसके बावजूद विरोधी-आव्रजन, राष्ट्रवादी पार्टी ने फिर भी अपने संसदीय सीटों की संख्या में ऐतिहासिक वृद्धि हासिल की। वामपंथी नेता जीन-ल्यूक मेलेंशॉन ने अप्रत्याशित चुनाव नतीजों को फ्रांसीसी नागरिकों के लिए "बड़ी राहत" बताया है। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री के इस्तीफे की मांग की है। मेलेंशॉन उन प्रमुख नेताओं में से एक हैं, जो चुनाव से पहले अप्रत्याशित रूप से एकजुट हुए।

218 उम्मीदवारों ने चुनावी दौड़ से नाम वापस लिया
चुनाव नतीजों में वामपंथी गठबंधन आगे है, राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का मध्यमार्गी गठबंधन दूसरे स्थान पर है और दक्षिणपंथी तीसरे स्थान पर है। विपक्षी पार्टियों ने रविवार के दूसरे दौर के मतदान से पहले जल्द से जल्द समझौते किए ताकि मरीन ले पेन की दक्षिणपंथी नेशनल रैली को संसदीय चुनावों में बड़ी जीत से रोका जा सके। ले पेन ने संकेत दिया था कि उनकी पार्टी केवल तभी सरकार का नेतृत्व करेगी, जब वे पूर्ण बहुमत या इसके आसपास सीटें हासिल करेंगे। दूसरे दौर के लिए योग्य 218 उम्मीदवारों ने चुनावी दौड़ से अपना नाम वापस ले लिया, जिनमें से 130 वामपंथी गठबंधन से और 82 मैक्रों के मध्यमार्गी गठबंधन से थे।

jindal steel hbm ad
5379487