Logo
राजस्थान के जोधपुर से बड़ी खबर है। NEET परीक्षा में हुई गड़बड़ी का बड़ा खुलासा हुआ है। बिहार के परीक्षार्थी की जगह डमी कैंडिडेट बनकर परीक्षा देने वाले मुन्नाभाई पर पुलिस ने केस दर्ज किया है। परीक्षा देने के लिए बदले मुन्नाभाई ने 4 लाख की रिश्वत ली थी।

Jodhpur AIIMS Dummy Candidate: NEET परीक्षा में गड़बड़ी करने वाले जोधपुर के मुन्नाभाई पर बिहार पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। पुलिस की जांच में हैरान करने वाली बात सामने आई है। पुलिस के मुताबिक, NEET परीक्षा में जोधपुर AIIMS के MBBS स्टूडेंट हुक्माराम ने डमी कैंडिडेट बनने के लिए 4 लाख रुपए की रिश्वत ली। बिहार के मुजफ्फरपुर निवासी राज पांडे की जगह परीक्षा दी। परीक्षा के दौरान बायोमेट्रिक्स जांच में पकड़े जाने के बाद से हुक्माराम फरार है।

सेंटर ने नहीं दर्ज कराया केस 
बता दें कि मुजफ्फपुर के मालीघाट स्थित डीएवी सेंटर पर नीट परीक्षा का आयोजन हुआ था। परीक्षा में हुक्माराम राज पांडे नाम के अभ्यर्थी के स्थान पर डमी बनकर बैठा था। परीक्षा सेंटर पर जब बायोमेट्रिक्स जांच की गई तो हुक्माराम पकड़ा गया। उसने राज पांडे की जगह परीक्षा देना कबूल किया था। सेंटर की ओर से हुक्माराम के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं करवाया। इसके चलते वह फरार हो गया। 

बिहार में एफआईआर 
मामले की भनक जब बिहार पुलिस को लगी तो उन्होंने अपने स्तर पर जांच शुरू की। जांच में गड़बड़ी सामने आने पर बिहार पुलिस ने हुक्माराम के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस हुक्माराम की तलाश में जुट गई है। पुलिस परीक्षा केंद्र की संदिग्ध भूमिका को लेकर भी जांच कर रही है। 

परीक्षा केंद्र पर बड़ी लापरवाही 
हुक्माराम को जब परीक्षा केंद्र पर राज की जगह परीक्षा देते पकड़ा गया तो उसने लिखित में अपना अपराध स्वीकार किया। इसके बाद भी परीक्षा केंद्र ने हुक्माराम के खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की। परीक्षा केंद्र वालों ने हुक्माराम को सेंटर के बाहर इंतजार करने को कहा। इसी बीच मौके का फायदा उठाकर हुक्माराम फरार हो गया। घटना के बाद, बिहार पुलिस ने सेंटर पर पहुंचकर लिखित शिकायत की मांग की, लेकिन सेंटर ने कोई सहयोग नहीं किया।

jindal steel hbm ad
5379487