Logo
MP Weather Update: मध्य प्रदेश में मानसून की एंट्री दो से तीन दिन में हो सकती है। गुरुवार रात राजधानी भोपाल में अच्छी बारिश हुई। शुक्रवार सुबह भी रिमझिम जारी है। मौसम विभाग ने सिवनी, छिंदवाड़ा व जबलपुर सहित कई जिलों में बारिश का अनुमान जताया है।

MP Weather Update: मध्य प्रदेश में प्री-मानसून एक्टीविटी जारी है। राजधानी भोपाल और सीहोर सहित कई जिलों में बारिश का सिलसिला जारी है। भोपाल में गुरुवार रात से रुक-रुककर तेज बारिश का दौर जारी है। शुकवार सुबह 3 से 8 बजे के बीच यहां 4.8 इंच बारिश हुई। दोपहर बाद फिर तेज बारिश शुरू हो गई। 

छिंदवाड़ा और जबलपुर जैसे जिलों के कई इलाकों में अच्छी बारिश का अनुमान है। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो दो से तीन दिन में मानसून भी दस्तक दे सकता है। कई दिन से यह ठहरा हुआ है। अब आगे बढ़ा है। 

heavy rain in bhopal
भोपाल में तेज बारिश।

2 घंटे में 4 इंच बारिश, सीहोर की सीवन नदी उफनाई 
भोपाल में शुकवार सुबह 3 से 8 बजे के बीच लगभग 4.8 इंच बारिश हुई। जबकि, सीहोर में दो घंटे में 4 इंच से ज्यादा पानी गिर गया। यहां की सीवन नदी में पानी का तेज बहाव है। जबकि, गुरुवार तक यह नदी पूरी तरह से सूखी थी। रतलाम, उज्जैन, रायसेन और शाजापुर में भी रुक-रुककर बारिश का दौर जरी है। 

सीनियर वैज्ञानिक डॉ. दिव्या ई. सुरेंद्रन ने बताया कि गुरुवार को मानसून छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के कई हिस्सों में पहुंच गया है। दो से तीन दिन में यह मध्य प्रदेश के दक्षिणी हिस्से बालाघाट, पांढुर्णा-बैतूल जिले से एंटर सकता है। 

MP के इन जिलों में आंधी बारिश का अलर्ट

  • मौसम विभाग के अनुसार, भोपाल, बैरागढ़ रायसेन, भीमबेटका, सीहोर, बैतूल, इंदौर, देवास, पंढुर्ना, छिंदवाड़ा, नर्मदापुरम, पचमढ़ी, सिवनी, बालाघाट, डिंडोरी, शहडोल, अनूपपुर, अमरकंटक और श्योपुर कलां में गरज-चमक बिजली के साथ तेज बारिश की संभावना है। 

  • मुरैना, ग्वालियर, शिवपुरी-कूनो, अशोकनगर, दतिया, उज्जैन, महाकालेश्वर, हरदा, धार, मांडू, बड़वानी, रतलाम, झाबुआ, मंदसौर, विदिशा, उदयगिरि, सांची, शाजापुर, खरगोन, महेश्वर, खंडवा, ओंकारेश्वर, बुरहानपुर, नरसिंहपुर, मंडला, कान्हा, सिंगरौली, उमरिया, सीधी, छतरपुर, खजुराहो, पन्ना, दमोह, कटनी, सागर, जबलपुर में शाम को हल्की गरज के साथ रिमझिम की संभावना है।

सही समय पर हुई मानसून की एंट्री
मौसम विभाग के मुताबिक, केरल में मानसून की एंट्री सही समय पर हुई है. लेकिन बाद में मानसून ठहर गया। जिस कारण मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में गर्मी का असर भी है। वर्तमान में कोई वेदर सिस्टम एक्टिव नहीं है। लोकल कन्वेटिव एक्टिविटीज की वजह से जहां-तहां बारिश हो रही है। राजधानी भोपाल के अलावा छिंदवाड़ा, जबलपुर और ग्वालियर भी बारिश हो सकती है। 

सबसे गर्म रहा ग्वालियर 
मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में अब भी तापमान 40 डिग्री के पार है। गुरुवर को एक बार फिर ग्वालियर का तापमान सबसे ज्यादा रहा। यहां अधिकतम तापमान 43.0 डिग्री दर्ज किया गया। हालांकि, हीट वेव की चेतावनी नहीं है। 

jindal steel hbm ad Haryana Ad
5379487