Logo
election banner
हरियाणा के फरीदाबाद में अधिकारियों और दलालों की मिलीभगत का एक हैरतंगेज मामला सामने आया। एक महिला के पति के जिंदा रहते हुए दलाल ने महिला की विधवा पेंशन बनवा दी। इसके बाद लगभग डेढ़ साल तक महिला का शारीरिक शोषण करता रहा। बेटी पर नजर डाली तो मामले का खुलासा हुआ।

Faridabad: फरीदाबाद में अधिकारियों और दलालों की मिलीभगत का एक हैरतंगेज मामला सामने आया। एक महिला के पति के जिंदा रहते हुए दलाल ने महिला की विधवा पेंशन बनवा दी। इसके बाद लगभग डेढ़ साल तक महिला का शारीरिक शोषण करता रहा। बाद में दलाल की नजर महिला की बेटी पर गई, तो उनमें अनबन हो गई। इसके बाद आरोपी ने महिला को फर्जी कागजातों से विधवा पेंशन लेने का डर दिखाकर उसे ब्लैकमेल किया। उससे पेंशन कटवाने के नाम पर लाखों रुपए की डिमांड कर दी। महिला ने इसकी शिकायत महिला आयोग से की। शुक्रवार को आयोग की चेयरपर्सन रेनू भाटिया ने इस मामले का खुलासा किया।

बेटी की पेंशन बनवानी थी, मां की बना दी

हरियाणा महिला आयोग की चेयरपर्सन रेनू भाटिया ने बताया कि वह फरीदाबाद में छेड़छाड़, घरेलू हिंसा, पति-पत्नी के बीच वाद-विवाद के मामलों dh सुनवाई कर रही थी। इसी दौरान महिला के साथ विधवा पेंशन के नाम पर धोखा करने का मामला सामने आया। केस को समझा गया तो मालूम हुआ कि पीड़ित महिला को लाड़ली योजना के तहत अपनी बेटी की पेंशन बनवानी थी, लेकिन महिला की विधवा पेंशन बना दी। आयोग की चेयरपर्सन ने कहा कि हैरानी की बात है कि महिला को करीब डेढ़ साल तक यह नहीं मालूम था कि उसकी विधवा पेंशन बनी हुई है। विधवा पेंशन बनवाने के लिए पति का डेथ सर्टिफिकेट और श्मशान घाट की पर्ची भी जरूरी होती है।

जिंदा पति के कैसे बनवा दी विधवा पेंशन

आयोग की चेयरपर्सन ने कहा कि सवाल यह उठता है कि उन्होंने पति के जिंदा रहते हुए कैसे एक महिला की विधवा पेंशन बनवा दी। ऐसे में साफ होता है कि नगर निगम के पेंशन विभाग में काम करने वाले अधिकारियों द्वारा दलाल के साथ मिलकर बड़ा घोटाला किया जा रहा है। जिस दलाल के जरिए महिला ने पेंशन बनवाई थी, उसने महिला को ब्लैकमेल करते हुए करीब डेढ़ साल तक उससे शारीरिक संबंध बनाए। दलाल की नजर अब महिला की बेटी पर थी। इसका विरोध महिला ने किया तो बात बिगड़ गई और दलाल ने महिला के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा दी कि यह महिला पति जिंदा होने पर भी विधवा पेंशन ले रही है।

पेंशन का मुद्दा बहुत गंभीर

आयोग की चेयरपर्सन ने रेनू भाटिया ने कहा कि पेंशन का मुद्दा बहुत गंभीर है कि किस तरह अधिकारियों-कर्मियों और दलालों की मिलीभगत से गिरोह सक्रिय है। इस तरह महिलाओं का शोषण हो रहा है। यह तो अभी केवल एक मामला सामने आया है। जांच के बाद और मामले भी सामने आ सकते हैं। ऐसे अधिकारियों, कर्मचारियों व दलालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। इसके लिए वह सरकार से बात करेंगी।

jindal steel Ad
5379487