Logo
election banner
Haryana Budget 2024: मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शुक्रवार को अपना अंतिम बजट पेश किया। बजट में किसानों, महिलाओं, युवाओं, शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क व स्टार्टअप पर विशेष फोकस किया गया है।

चंडीगढ़। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शुक्रवार को विधानसभा में अपने दूसरे कार्यकाल का 2024-25 के लिए 1,89,876.61 करोड़ का बजट का प्रस्तावित बजट पेश किया। वर्ष 2023-24 में यह बजट 1,70490.84 करोड़ रुपये था। जिससे चालू वित्त वर्ष का बजट 11.37 प्रतिशत अधिक है। बजट में कोई नया कर प्रस्तावित नहीं है तथा इसमें राजस्व परिव्यय के रूप में 1,34,456.36 करोड़ और पूंजीगत परिव्यय के रूप में 55,420.25 करोड़ रुपये शामिल है, जो कि कुल बजट का क्रमशः 70.81 व  29.19 प्रतिशत है। स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान भत्ता 25 हजार से बढ़ाकर 40 हजार रुपये करने तथा गांवों में कचरा प्रबंधन प्लांट स्थापित करना तथा गांवों में स्ट्रीट लाइटें लगाने की जिम्मेदारी जिला परिषद को सौंपना का भी प्रस्ताव है। सफाई कर्मियों के 7326 नए पद सृजित कर पदों की संख्या 11254 से बढ़ाकर 185580 करने तथा किसानों के कर्ज का ब्याज व पैलन्टी माफ करना भी प्रस्तावित है। बजट में महिलाओं, युवाओं के साथ स्वास्थ्य, शिक्षा, परिवहन, स्टार्टअप पर विशेष फोकस किया गया है। बजट में एक अप्रैल से किसानों से वसूला जाने वाला आबियाना बंद करने का प्रस्ताव दिया गया है।

कहां से मिलेगा कितना पैसा
वर्ष 2024-25 में सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों की भी पूंजीगत बुनियादी ढांचे के निर्माण पर 8,119.24 करोड़ रुपये की राशि खर्च करने की योजना है। कुल मिलाकर, इस वर्ष के लिए हमारा परिव्यय 63,539.49 करोड़ रुपये होने का अनुमान है। इस वर्ष के बजट में कोई नया कर प्रस्तावित नहीं है। उन्होंने कहा कि 1,16,638.90 करोड़ रुपये की राजस्व प्राप्ति का अनुमान लगाया गया है, जिसमें 84,551.10 करोड़ रुपये का कर राजस्व और 9,243.46 करोड़ रुपये गैर-कर राजस्व शामिल है। केंद्रीय कर का हिस्सा 13,332.23 करोड़ रुपये है और केन्द्रीय अनुदान सहायता 9,512.11 करोड़ रुपये है।

तीन नई हवाई पट्टी बनेगी, आठ स्थाई हेलीपैड बनाने की योजना
नूंह, रोहतक व यमुनानगर में हवाई पट्टियां विकसित करने तथा गुरुग्राम के हेली-हब/हेली-पोर्ट शुरू करने और जींद, झज्जर, कैथल, पलवल, यमुनानगर, रोहतक, कुरुक्षेत्र और सोनीपत में स्थायी हेलीपैड के बनाने के लिए फिजिबिल्टी का अध्ययन किया जाएगा। सरकार ने कर्मचारी राज्य बीमा निगम ने हिसार, रोहतक, अंबाला और सोनीपत में 100 बिस्तरों वाले नए अस्पतालों और करनाल में 30 बिस्तरों वाले नए अस्पताल की स्थापना की मंजूरी दी, वर्ष 2024-25 में पटौदी, साहा, घरौंडा और कैथल में नई ईएसआईसी डिस्पेंसरियां शुरू करने की योजना है।;

5379487