Logo
election banner
Kundli-Singhu Border: नेशनल हाईवे-44 स्थित कुंडली-सिंघु बॉर्डर से दिल्ली आवागमन करने वाले वाहन चालकों को अब जल्द खुलने वाला है। क्योंकि, किसानों को रोकने के लिए की गई बैरिकेडिंग को अब हटाया जा रहा है।

Singhu border: किसान आंदोलन-2 के चलते दिल्ली-एनसीआर के रास्तों को प्रशासन ने बंद कर दिया था। जिसके चलते पुलिस ने नेशनल हाईवे 44 को कुंडली बॉर्डर पर कई लेयर की बैरिकेटिंग कर दी थी। जिससे किसानों को दिल्ली कूच से रोका जा सके। हालांकि, किसान दो दिल्ली तक नहीं पहुंच सके लेकिन बैरिकेडिंग लगाए जाने से यात्रियों पर इसका प्रभाव पड़ा।

हालांकि, अब इस बीच खुशखबरी सामने आ रही है। दरअसल, नेशनल हाईवे-44 स्थित कुंडली-सिंघु बॉर्डर से दिल्ली आवागमन करने वाले वाहन चालकों को अब जल्द खुलने वाला है। क्योंकि दिल्ली पुलिस ने हाईवे पर खड़ी की गई बैरिकेड को हटाने का काम शुरू कर दिया गया है। हालांकि, पुलिस की चौंकसी कम नहीं होगी। अभी हाईवे की 2 लेन ही खोली जाएंगी।

दो दिन में खुल जाएंगे रास्ते

बता दें कि सोनीपत से सटे कुंडली-सिंघु बॉर्डर को 13 फरवरी को बंद किया गया था। किसानों को दिल्ली पहुंचने से रोकने के लिए दिल्ली पुलिस ने 10 लेयर की बैरिकेडिंग की। करीब तीन किलोमीटर तक विभिन्न प्रकार के पक्के अवरोधक खड़े किए गए हैं। इनमें भारी भरकम पत्थर तो हैं हीं, साथ में कंटीले तारों की बाड़ भी लगाई गई है। हालांकि, अब इसे हटाने की प्रक्रिया शुरु हो गई है। दो दिन दिन में दो लेन खोल दिए जाएंगे।

अंबाला के शंभू बॉर्डर पर डंटे हैं किसान

बता दें कि एमएसपी गारंटी कानून समेत कई मांगों को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा (गैर राजनीतिक) ने दिल्ली कूच का एलान किया था। इसको देखते हुए प्रशासन ने दिल्ली-हरियाणा के बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षा बलों और पुलिस के जवानों को तैनात किया। जिसके चलते किसानों को शंभू बॉर्डर से आगे नहीं बढ़ने दिया गया। पंजाब के किसान 13 फरवरी को अंबाला के शंभू बॉर्डर पर तो आ गए लेकिन वहां से आगे नहीं बढ़ सके।

सभी बॉर्डरों को किया गया था सील

दिल्ली पुलिस ने कुंडली-सिंघु बॉर्डर को पूरी तरह से सील कर दिया था। बाद में वाहन चालकों की परेशानी व किसानों-सरकार के बीच सुलह की उम्मीद के चलते बॉर्डर को आंशिक रूप से खोल दिया गया था। 26 फरवरी को सर्विस रोड वाहन चालकों के लिए खोल दिए गए थे। लेकिन कुंडली बॉर्डर पर लोगों को लगातार जाम का सामना ही करना पड़ रहा था।

ये भी पढ़ें:-शंभू स्टेशन से जाने वाली कई ट्रेनें प्रभावित, आंदोलनकारी आज कर सकते हैं बड़ा ऐलान

व्यापारियों और उद्योगपतियों ने की थी शिकायत

इसके बाद उद्योगपतियों, व्यापारियों व अन्य वाहन चालकों ने सरकार से कुंडली बॉर्डर के फ्लाईओवर को खोलने की मांग की थी, हालांकि तब दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा का हवाला देकर अवरोधों को नहीं हटाया था। लेकिन अब दिल्ली पुलिस ने कुंडली-सिंघु बार्डर के दोनों फ्लाईओवरों से अवरोधकों, दीवारों व कंटेनरों को हटाने का काम शुरू कर दिया है।

बता दें कि किसानों को दिल्ली पहुंचने से रोकने के लिए एनएच-44 पर दिल्ली पुलिस व प्रशासन ने कुंडली-सिंघु बार्डर पर बने दोनों ओर के फ्लाईओवर को पूरी तरह से अवरोधकों से बंद कर दिया था। सीमेंट की दीवार, लोहे व पत्थर के अवरोधक, कंटेनर व कंटीले तारों की मल्टीलेयर बिछाकर मार्ग को पूरी तरह से रोक दिया था।

5379487