Logo
election banner
Rohit Sharma: पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने रोहित शर्मा की कप्तानी की जमकर तारीफ की है। उन्होंने बताया कि आखिर रोहित शर्मा को कप्तानी की जिम्मेदारी क्यों सौंपी गई थी।

Sourav Ganguly, Virat Kohli, Rohit Sharma: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने रोहित शर्मा की कप्तानी की जमकर तारीफ की है। रोहित शर्मा की कप्तानी में भारतीय टीम वनडे विश्व कप 2023 के फाइनल में पहुंची। टीम इंडिया ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेला। भारत फिलहाल इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेल रहा है जहां रोहित शर्मा एंड कंपनी ने पांच में से तीन मैच जीतकर सीरीज अपने नाम कर ली है। इस बीच दादा ने रोहित शर्मा को सभी प्रारूपों की कप्तानी सौंपे जाने को लेकर बड़ा खुलासा किया है।

मैंने रोहित में टैलेंट देखा- गांगुली
RevSportz से बातचीत में सौरव गांगुली ने कहा, "मैंने रोहित शर्मा को कप्तान बनाया था क्योंकि मैंने उनके अंदर का वह टैलेंट देख लिया था। उन्होंने अभी तक कप्तान के तौर पर जो कुछ किया है, उसे देखकर मुझे कोई हैरानी नहीं हो रही है। रोहित शर्मा एक शानदार कप्तान हैं, जिस तरह से उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भारत का नेतृत्व किया, जिस तरह से उन्होंने विश्व कप में नेतृत्व किया वह अद्भुत था।"

ईशान-श्रेयस को लेकर कही ये बात
ईशान किशन और श्रेयस अय्यर को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से बाहर किए जाने पर सौरव गांगुली ने कहा, "आपको प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलना चाहिए। एक बार जब आप अनुबंधित खिलाड़ी बन जाते हैं, तो आपसे प्रीमियर टूर्नामेंट में खेलने की उम्मीद की जाती है। श्रेयस अय्यर कुछ ही दिनों में मुंबई के लिए सेमीफाइनल खेल रहे हैं। ईशान किशन ने मुझे आश्चर्यचकित कर दिया है। वह सभी प्रारूपों में भारतीय टीम का हिस्सा थे। IPL में इतना बड़ा कॉन्ट्रैक्ट। मुझे नहीं पता कि उसने ऐसा क्यों किया है। आपको खासकर तब खेलना चाहिए जब आप ईशान किशन जैसे प्रतिभाशाली हों। जब आप भारत के लिए सभी प्रारूपों में खेल रहे हैं, तो आपको खेलना ही चाहिए। मैं उनके ऐसा न करने के फैसले से हैरान था।"

कैसे गई थी विराट कोहली के हाथ से कप्तानी
बता दें कि टी-20 विश्व कप 2021 से पहले विराट कोहली ने कहा था कि इस प्रारूप में बतौर कप्तान यह उनका आखिरी टूर्नामेंट है। दूसरी ओर बोर्ड चाहता था कि वनडे और टी20 (व्हाइट बॉल) में एक ही कप्तान हो। ऐसे में विराट कोहली को वनडे की कप्तानी से भी हटा दिया गया था। बाद में उन्होंने टेस्ट की कप्तानी भी छोड़ दी थी। ऐसे में रोहित शर्मा को पहले टी-20 फॉर्मेट और बाद में सभी प्रारूपों में भारतीय टीम का कप्तान नियुक्त किया गया।

विराट कोहली ने जब कप्तानी छोड़ी और रोहित शर्मा को यह जिम्मेदारी सौंपी गई, तब BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली थे। उस दौरान विराट कोहली और सौरव गांगुली के बीच अनबन की खबरें भी सामने आई थीं। दोनों में मीडिया में कई बयान भी दिए थे जिनमें विरोधाभास था। सौरव गांगुली का कहना था कि उन्होंने विराट कोहली को कप्तानी छोड़ने से मना किया था, दूसरी ओर विराट का कहना था कि उन्हें किसी ने नहीं रोका।

ये भी पढ़ें: BCCI Central Contracts: सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट के बिना भी टीम इंडिया में खेल सकते श्रेयस अय्यर और ईशान किशन, जानिए क्या है तरीका

5379487