Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नागिन भी #MeToo कहकर लेगी अपना बदला

मी टू -ये बहुत ही खतरनाक शब्द हो गए हैं। अपनी महिला मित्र के साथ मैं एक काफी हाऊस में था, मैंने कहा कि मैं एस्प्रेसो काफी लूंगा। मित्र ने कहा-मी टू। उसका आशय था कि वह भी एस्प्रेसो काफी लेगी। पर मी टू सुनते ही पब्लिक ने मुझे घेर लिया।

नागिन भी #MeToo कहकर लेगी अपना बदला

उस शहर के स्टेशन पर उतरते हुए ही मुझे तीन बहुत बड़े-बड़े कटआऊट दिखे-एक पर नेता का फोटू था, फोटू पर लिखा था-शहर के गौरव। अगले दिन के अखबारों में खबर थी-नकली शराब पीने से पांच मरे। ऐसा शहर जहां नेता तो असली हों, पर शराब नकली और फिर भी नेता कहें कि शहर का गौरव। अबे कैसे गौरव हो, शहर की इतनी भी साज संभाल ना की जाती तुमसे। एक दूसरे शहर गया वहां नालियां भी भरी हुई थीं और शहर भी भरा हुआ था ऐसे नेताओं के कटआऊटों से जिनमें कई नेताओं को शहर का गौरव बताया गया था। भरी नालियों और नेताओं से भरे शहर पर गौरव नेता कर सकते हैं।

गौरव करना बहुत मुश्किल हो लिया है इन दिनों। अपने लिखने-पढ़ने के धंधे पर मैं कभी कभार गौरव कर लिया करता था। अभी एक भूतपूर्व वरिष्ठ पत्रकार पर सात महिलाओं ने ऐसे आरोप लगाए, जिनकी रोशनी में वह बुद्धिजीवी पत्रकार एकदम उस मौसम का श्वान जैसा दिखने लगा है, जिस मौसम में श्वान हर आती जाती मादा श्वान के पीछे पागलों की तरह लपटता-झपटता है।

#MeToo पर शिल्पा शिंदे बोलीं- सब कुछ आपसी सहमति से होता है, मुद्दा ना बनाएं

श्वानों और इंसानों में यही फर्क होता है श्वानों के श्वानवत व्यवहार कुछ महीनों में ही चलते हैं। इंसान बुद्धिमान है और पत्रकार लेखक तो बहुत ही बुद्धिमान हैं, वह तो 24x7 श्वानवत रह सकते हैं।

मी टू -ये बहुत ही खतरनाक शब्द हो गए हैं। अपनी महिला मित्र के साथ मैं एक काफी हाऊस में था, मैंने कहा कि मैं एस्प्रेसो काफी लूंगा। मित्र ने कहा-मी टू। उसका आशय था कि वह भी एस्प्रेसो काफी लेगी। पर मी टू सुनते ही पब्लिक ने मुझे घेर लिया।

काफी हाऊस में नौजवान मेरी पिटाई पर आमादा हो गए-ये भी मी टू वाला है। महिला मित्र ने मेरी जान बचायी यहकर कि उनका मी टू सिर्फ काफी तक सीमित है। यह हिंदी का लेखक है, इसकी औकात ही क्या मी टू की।

#MeToo मामला झूठा साबित होता है तो क्या मिट्टी में मिली हुई पुरुष की इज़्ज़त वापस होगी ?

महिला अफसर थीं। उनकी बात सबने मान ली। यह हिंदी का संस्कार है, लेखक और अफसर दोनों सामने हों,लेखक की चाहे कोई ना सुनी, पर अफसर की बात सुन ली जाती है।

आजकल माहौल कौन किस कोने से निकलकर किसका मी टू कर दे यह नहीं पता। फिल्मवालों का इस कदर मीटू हो लिया है कि एक चीफ अपने रिपोर्टर को कह रहा था कि जुगाड़ करो कुछ ऐसी कि रेखा कह दें कि अमिताभ बच्चन ने उनका मी टू कर दिया था।

मैंने डपटा दोनों को-शर्म नहीं आती, सब अपनी जिंदगी राजी खुशी जी रहे हैं। चैनल चीफ ने बताया कि वह नया कार्यक्रम ला रहा है-आज का मी-टू, इसमें रोज नया मी-टू लाना पड़ेगा। पब्लिक की दिलचस्पी बहुत है।

#MeToo सोशल मीडिया पर वायरल हुए ये ट्वीट्स, पढ़कर पकड़ लेंगे पेट

समझने की बात यह है कि ब्रह्मांड का हर मर्द श्वान नहीं है और ब्रह्मांड की हर मीटू स्टोरी सच्ची नहीं है मी-टू इस तरह से बिका तो हर टीवी स्टोरी मी-टू के फ्रेमवर्क में आएगी।

नागिन की सौतन सीरियल में नागिन यह कहकर बदला लेगी पूर्व जन्म के डाइरेक्टर से-तूने मेरा मी-टू कर दिया था। मी-टू मनोरंजन का विषय नहीं है। हर मामले को गहरी पड़ताल का विषय है। पर यह होना नहीं है। आप देखते रहिये जल्दी ही टीवी सीरियल आयेगा-नागिन का मी-टू।

Next Story
Top