Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

टीम इंडिया के शानदार प्रदर्शन ने बढ़ाई उम्मीद

मौजूदा विश्व कप में भारत ने अब तक खेले गए लगातार सभी पांचों मैच जीते हैं।

टीम इंडिया के शानदार प्रदर्शन ने बढ़ाई उम्मीद

आत्मविश्वास से ओतप्रोत भारतीय क्रिकेट टीम का विश्व कप में अब तक का सफर शानदार रहा है। मंगलवार को आयरलैंड की टीम को हराकर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की युवा खिलाड़ियों से सजी टीम ने इतिहास रच दिया है। इससे पहले वह पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज जैसी मजबूत टीमों को बडे अंतर से हरा चुकी है। वहीं यूएई के साथ हुए मैच में भी भारत को आसान जीत मिली थी।

ममता बनर्जी की प्रधानमंत्री से मुलाकात के निहितार्थ

इस प्रकार मौजूदा विश्व कप में भारत ने अब तक खेले गए लगातार सभी पांचों मैच जीते हैं। अब पहले ही अंतिम आठ यानी क्वार्टर फाइनल में जगह पक्की कर चुकी धोनी की टीम को लीग चरण का शेष एक मैच जिंबाब्वे जैसी कमजोर टीम के साथ खेलने हैं। टीम ने अब तक जिस तरह का प्रदर्शन दिखाया है उसे देखते हुए उसमें भी जीत मिलने की उम्मीद है।

टकराव के रास्ते पर मुफ्ती मोहम्मद सईद, विवादित बयान ने पहुंचाया देश को नुकसान

टीम इंडिया ने आयरलैंड पर शानदार जीत हासिल करने के बाद विश्व कप में लगातार नौ जीत दर्ज करने का भी रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज कर लिया है। इस अभियान का आगाज 2011 विश्व कप के दौरान चेन्नई में वेस्टइंडीज पर जीत के साथ हुआ था। इससे पहले 2003 में दक्षिण अफ्रीका में हुए विश्व कप में सौरभ गांगुली की टीम ने लगातार आठ मैच जीते थे। हालांकि विश्व कप में अभी भी लगातार सबसे ज्यादा मैच जीतने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के नाम है।

विश्व कप के आगाज से पूर्व भारतीय क्रिकेट टीम से ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद किसी को नहीं थी। जिस तरह टीम इंडिया तीनों भागों यानी बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण में कमाल का खेल दिखा रही है उसे देखते हुए कई क्रिकेट विशेषज्ञ अभी से दावा करने लगे हैं कि 29 मार्च को होने वाले फाइनल में भारत अपने विश्व चैंपियन का ताज बचा ले तो कोई हैरानी नहीं होगी।

पिछली बार 2011 में विश्व कप खेला गया था, जिसमें भारत विश्व चैंपियन बना था। हालांकि विश्व कप से पूर्व टीम इंडिया की क्षमताओं पर गंभीर सवाल भी उठाए जा रहे थे। उसकी मुख्य वजह गत दिनों आॅस्ट्रेलिया में खेले गए एकदिवसीय और टेस्ट मैच में भारतीय क्रिकेट टीम का खराब प्रदर्शन था, लेकिन टीम इंडिया अब उस नाकामी के दौर से बाहर आ गई है और विश्व चैंपियन की तरह खेल रही है। उधर बांग्लादेश ने इंग्लैंड को हरा कर एक बड़ा उलटफेर किया है।

‘आप’ को सीख लेने की जरूरत, आंतरिक कलह से करोड़ों सर्मथकों को पीड़ा

अब क्वार्टर फाइनल में बांग्लादेश का मुकाबला भारत के साथ होने की उम्मीद है। क्रिकेट को जन्म देने वाले इंग्लैंड का विश्व कप जीतने का सपना इस बार भी अधूरा रहा गया। वहीं गु्रप-ए में न्यूजीलैंड की टीम मजबूती के साथ उभरी है। कईविशेषज्ञ इसे भी विश्व कप का दावेदार मानने लगे हैं। वहीं ऑस्ट्रेलिया पहले से कमजोर लग रही है। अब फाइनल में किसकी भिडंत होगी और किसके सिर विश्व कप का ताज सजता है यह आने वाले कुछ दिनों साफ हो जाएगा।

बहरहाल, यह भी स्पष्ट है कि खेल-प्रतिस्पर्धाएं कभी भी पहले से तय पटकथा के अनुसार आगे नहीं बढ़ती हैं। क्रिकेट को तो अनिश्चितताओं का खेल कहा गया है। कई बार मैदान पर यह साबित भी हो चुका है। दरअसल, यही इस खेल की खूबी है। उम्मीद है कि आने वाले दिनों में कुछ अच्छे मुकाबले देखने को मिलेंगे।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top