Top

New Year Wishes : नया साल मुबारक हो, देश में बदलावों का गवाह बने नव वर्ष

नरेंद्र सांवरिया | UPDATED Jan 1 2019 3:34PM IST
New Year Wishes : नया साल मुबारक हो, देश में बदलावों का गवाह बने नव वर्ष

New Year Wishes : नया साल मुबारक हो

आज से नव वर्ष शुरू हो रहा है। यह उल्लास का दिन है, आत्मावलोकन का दिन है और नव सृजन के संकल्प का दिन है। आज का दिन पिछले साल की गलतियों से सबक लेने का है और नए साल के लिए नया लक्ष्य निर्धारित करने का है। यह लक्ष्य परिवर्तन का होना चाहिए, नए निर्माण का होना चाहिए और सकारात्मक सुधार का होना चाहिए।

लक्ष्य खुद के लिए भी होना चाहिए और परिवार, समाज व राष्ट्र के लिए भी होना चाहिए। हम सभी को मिलकर नए भारत के निर्माण का लक्ष्य बनाना चाहिए। सामाजिक बुराइयों, मानवीय विषमताओं और हर स्तर पर व्याप्त असमानताओं को खत्म करने की दिशा में हमें सामूहिक संकल्प लेना चाहिए। हम सभी को अपने जीवन से नाकारात्मकताओं को समाप्त करने का प्रण भी लेना चाहिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी 51वीं मन की बात में उम्मीद जताई है कि नए साल में भारत उपलब्धियों की नई बुलंदी को छुएगा। प्रधानमंत्री के तौर पर राष्ट्र को आगे ले जाने का संकल्प सराहनीय है। लेकिन यह संकल्प तभी साकार होगा, जब समूचा देश कदम मिलाकर आगे बढ़ेगा। भारत विशाल देश है, इस नाते आकांक्षाएं भी विशाल हैं। इसलिए इसे पूरा करने के लिए हमारा लक्ष्य भी विशाल होना चाहिए।

गुजरे साल में हमने कई उपलब्धियां हासिल की हैं। स्वच्छता की दिशा में हम आगे बढ़े हैं। उपग्रह छोड़ने के मामले में हमने कीर्तिमान रचा है। चिकित्सा के क्षेत्र में रोबोटिक सर्जरी समेत कई तकनीकी क्षमताएं प्राप्त की हैं। आयुष्मान योजना का लागू होना स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में क्रांति लाने जैसा है।

प्राथमिक व उच्च शिक्षा के क्षेत्र में कई सुधार हुए। बस्ते का बोझ कम हुआ। पर्यावरण के क्षेत्र में पीएम मोदी को यूएन का सम्मान मिला। बेटियों ने नाव से विश्व की परिक्रमा की, परमाणु पनडुब्बी की पहली गश्त पूरी हुई। हाईस्पीड ट्रेन-18 का सफल ट्रायल हुआ, ब्रहमपुत्र पर सबसे लंबे रेल-रोड पुल व सबसे लंबे सड़क पुल राष्ट्र को समर्पित किया गया।

एशियन गेम्स में 2018 में भारत ने सर्वाधिक पदक जीते, क्रिकेट में भारत ने जीत के कई कीर्तिमान रचे। कश्मीर में आतंकवाद की कमर तोड़ी, चीन से संबंध सुधरे। अमेरिका, रूस, जापान व ऑस्ट्रेलिया के साथ भारत ने संतुलन कायम रखा, ईरान के साथ रिश्ते बेहतर रहे। शायद ही कोई ऐसा क्षेत्र रहा, जिसमें भारत ने कोई न कोई उपलब्धि हासिल न की हो।

इसी मोमेंटम को इस नव वर्ष में बनाए रखना है। हमें विज्ञान, शिक्षा, चिकित्सा, अर्थव्यवस्था, रक्षा-सुरक्षा, राजनीति, विनिर्माण आदि हर क्षेत्र में अपनी उपलब्धियों को विस्तार देना चाहिए। हमें अनुत्पादक चीजों से मुक्ति पानी चाहिए और सतत विकास पर अपनी ऊर्जा को केंद्रित करना चाहिए। 2018 में भीड़ हिंसा और नफरत की कुछ घटनाओं ने देश के सदभाव के दामन पर दाग लगाए।

नर्व वर्ष में इन बुराइयों को खत्म करने की दिशा में कदम उठाया जाना चाहिए। पिछले साल हम रोजगार सृजन के मोर्चे पर उम्मीद के अनुरूप नहीं कर पाए, इस साल हमें इस मुद्दे पर बेहतर करना चाहिए। नए साल में अर्थव्यवस्था को मजबूत करना चाहिए, नए आर्थिक सुधार को आगे बढ़ाना चाहिए, बैंकिंग व वित्तीय क्षेत्र को स्थिर व मजबूत करना चाहिए।

सीबीआई समेत सभी सरकारी स्वायत्त निकायों को और बेहतर बनाया जाना चाहिए। पुलिस, प्रशासनिक व न्यायिक सुधार के लिए कदम उठाया जाना चाहिए। दिनोंदिन गिर रही राजनीति में सुधार लाना चाहिए। राजनीति से विभाजनकारी तत्वों को खत्म करने की जरूरत है। नया साल चुनाव आयोग के लिए चुनौतीपूर्ण रहने वाला है।

देश में आम चुनाव व सात राज्यों में विधानसभा चुनाव होंगे। इस साल भारत आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थाउट और रोबोटिक साइंस में बहुत कुछ नया करेगा। हम सभी का यत्न होना चाहिए कि 2019 बदलावों का गवाह बने, देश नई ऊंचाई को छुए, हालांकि इसके लिए सरकार को अपने विकास के एजेंडे पर केंद्रित रहना होगा। नव वर्ष सबके लिए नई उपलब्धि व खुशी लेकर आए।


ADS

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

ADS

मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo