Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

युवा कवि अमृत सागर की दो कविताएं

कमरा, मेरा शहर: कभी न खत्म होने वाली बहस!

युवा कवि अमृत सागर की दो कविताएं
कमरा
-----------
कभी-कभी किसी को खोना..
खालीपन को पाने जैसा होता है..
कुछ निर्जीव चीजें सजीव हो उठती हैं...
तब आपका कमरा महज एक कमरा नहीं रह जाता..
वह आपसे बातें करता है
गलबहियां करता है, ओरहन देता है
आपकी सिसकियों को थपकियां देकर
अपनी गोद में सुलाता भी है...
वह देर की बिना शिकायत किये उठाता है
और आपके बिखरेपन और सलवटों को
जज्ब कर जाता है..
वह आपके छोड़ जाने पर भी
गिला-शिकवा नहीं करता
मुस्कुरा के सिखाता है...
दिलों में फैलना...
मगर दूसरों के लिए जगह खाली रखना

मेरा शहर: कभी न खत्म होने वाली बहस!
---------------------------------------------
पार्टनर! चुप्प रहो!
मुझे आलोक है..
कि हर बहसों का अंत हत्याओं में होता है!
मैं जानता हूँ!
तुम्हे मरी मछलियों से प्रेम है
इसके सिवा तुमने किया ही क्या है!
लेकिन क्या कभी तुमने सोचा है उनके बारे में
जिन्होंने दुर्गंधों की कसमें खायीं!
शायद! तुमने अपनी कलम में
केसरिया स्याही भर ली है
और मुठ्ठियों में छुपा रखी है
पंजों की अंतड़ियाँ!
क्या वाकई! तुमने मुखौटों के पीछे भी मुखौटा लगा रखा है!
कभी तुमने सोचा!
कि तेजाबी बारिश होगी तो क्या होगा ? उन सिंहासनो का
जिसे रेत से भींची मुठ्ठियों ने
डूबते सूरज की गवाही पर कराया था खाली !
क्या, हिमालय से उड़ी टीटीहरी के पंख
कंकडों के सहारे करेंगे मुकाबला
'काशी की अस्सी' पर बोई जा रही सफ़ेद फसलों
और मुंह में दबे लाल रंग का !
क्या आसान नहीं है आज
कर्ण के बजाये युधिष्ठिर बन जाना!
कोई है जो यहाँ अर्जुन नही कर्ण बनना चाहता हो ?
जो इन्द्र को कवच कुंडल देने के बाद
मरते वक्त अंजुरियों में डाल सकता हो, अपने सोने का दांत!
शायद!
मैं जवाब जानता हूँ!
क्योंकि यह सवाल मेरे, खुद के लिए भी तो है!
और यह भी जानता हूँ कि
शायद! मेरी अब बिना शर्त रिहाई कर दी जाये...
जिसके बाद छोड़ दी जाए
मेरी पीठ पर एक जोड़ी सुर्ख लोहे की आँखें!
फिर भी मुखौटे का लथपथ सवाल!
घिसटता रहेगा!
कि क्या तुम्हारा रंगभूमि से सम्बन्ध
सूरदास की मड़ई जैसा है ?
क्योंकि ऐ रसूल
ये मेरा दागिस्तान है!
और मेरा शहर..
कभी न खत्म होने वाली बहस!
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top