Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देश में इन जगहों पर खुद को सबसे ज्यादा असुरक्षित महसूस करती हैं महिलाएं, रिसर्च में हुआ खुलासा

हैदराबाद में डॉक्टर प्रियंका रेड्डी के साथ हुई घटना से देशवासियों में रोष है और इस घटना से महिलओं और लड़िकयों की भी रूह कांप उठी है। जिस वजह से वे बाहर निकलने से डर रहीं हैं, क्योंकि हवस के पुजारियों की वह भी शिकार न हो जाए।

देश में इन जगहों पर खुद को सबसे ज्यादा असुरक्षित महसूस करती हैं महिलाएं, रिसर्च में हुआ खुलासाभारत के इन राज्यों में सबसे ज्याद असुरक्षित महिलाएं

भारत में लगातार महिलाओं और लड़कियों के साथ बलात्कार और छेड़छाड़ की घटनाएं कम होने के वजाए और बढ़ती जा रही हैं। जिस वजह से महिलाएं अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रही है और भय के साथ जी रही हैं।

हैदराबाद में डॉक्टर प्रियंका रेड्डी के साथ हुई घटना से देशवासियों में रोष है और इस घटना से महिलओं और लड़िकयों की भी रूह कांप उठी है। जिस वजह से वे बाहर निकलने से डर रहीं हैं, क्योंकि हवस के पुजारियों की वह भी शिकार न हो जाए।

इन्हें रहता है यौन उत्पीड़न की ज्यादा खतरा

लेकिन देश के कुछ ऐसे राज्य हैं जहां पर 90 प्रतिशत महिलाएं खुद को सुनसान और असुरक्षित इलाकों की वजह से सुरक्षित महसूस नहीं करती हैं। मिली जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश के भोपाल और ग्वालियर जबकि राजस्थान के जोधपुर में 90 प्रतिशत महिलाएं खुद को सुनसान और असुरक्षित इलाकों की वजह से सुरक्षित महसूस नहीं करती हैं। एक रिसर्च में सामने आया है कि जिन लड़कियों की शादी नहीं हुई है और छात्राओं को यौन उत्पीड़न का ज्यादा खतरा है।

रिसर्च में हुआ बड़ा खुलासा

यह रिसर्च 'सेफ्टिपिन' एनजीओ, सरकारी संगठन केओआईसीए (कोरिया इंटरनेशनल कॉरपोरेशन एजेंसी) और एनजीओ एशिया फाउंडेशन ने किया है। जिसमें उन्होंने भोपाल, ग्वालियर और जोधपुर में किए गए 219 सर्वेक्षणों को शामिल किया गया है।

रिसर्च के मुताबिक 89 प्रतिशत महिलाओं का कहना है कि वह खुद को सुनसान इलाकों की वजह से असुरक्षित महसूस करती है। जबकि 63 प्रतिशत महिलाओं का कहना है कि वह सफर के दौरान गाड़ियों के लगभग खाली होने खुद को असुरक्षित महसूस करती हैं।

वहीं 86 प्रतिशत महिलाओं का कहना है कि यदि नजदीक में ही शराब कि बिक्री होती है तो वह इस वजह से खुद को असुरक्षित महसूस करती हैं। 68 प्रतिशत महिलाओं का कहना है वह खुद को सुरक्षा की कमी के कारण असुरक्षित महसूस करती हैं।

इन स्थानों पर होती हैं सबसे अधिक घटनाएं

रिसर्च के अनुसार, 51.1 प्रतिशत छात्राओं और 50.1 प्रतिशत अविवाहित महिलाओं को यौन उत्पीड़न का ज्यादा खतरा रहता है। जबकि में सामने आया है कि घूरना, पीछा करने, फब्तियां कसने और छूने जैसी घटनाएं बढ़ोतरी हुई है। पर इन हरकतों को यौन उत्पीड़न जितना गंभीर नहीं माना जाता। सबसे अधिक यौन उत्पीड़न की घटनाएं भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर ज्यादातर होती हैं।

Next Story
Top