Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने की भारत की तारीफ, बोलीं कोविड-19 के मामलों को कम रख पाना सराहनीय

वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने यह भी कहा कि पूरी दुनिया को आने वाले कई महीनों और संभवत: सालों तक संक्रमण के प्रसार के लिए तैयार रहना होगा।

वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने की भारत की तारीफ, बोलीं कोविड-19 के मामलों को कम रख पाना सराहनीय
X

दुनियाभर के 180 से ज्यादा देशों में कोरोना वायरस महामारी ने कहर बरपाया हुआ है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने अन्य देशों के मुकाबले कोरोना वायरस संक्रमण और उससे होने वाली मौत के आंकड़ों को बेहद कम रखने के लिए भारत की सराहना की है। वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने कहा है कि कोविड-19 की दवा के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने यह भी कहा कि पूरी दुनिया को आने वाले कई महीनों और संभवत: सालों तक संक्रमण के प्रसार के लिए तैयार रहना होगा। केवल दवा विकसित कर लेना और उसका टेस्ट ही काफी नहीं है, बल्कि उसका निर्माण, उसे प्राप्त करना और बड़ी आबादी तक उसे सुलभ कराने के लिए स्वास्थ्य तंत्र का होना भी जरूर है।

स्वामीनाथन ने कहा कि मैं अब तक भारत में कोरोना वायरस पर लगाम लगाए रखने और अन्य देशों के मुकाबले संक्रमण के मामलों और कोरोना वायरस से मरने वाली संख्या को बेहद सीमित रखने के लिए मंत्री और सहकर्मियों की सराहना करते हुए उन्हें बधाई देना चाहूंगी। यह बातें स्वामीनाथन ने राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के मौके पर आयोजित एक सम्मेलन में कही।

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के मौके पर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन समेत सभी प्रतिभागियों ने सम्मेलन को ऑनलाइन संबोधित किया। इस दौरान विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि हम जानते हैं कि हम मैराथन में दौड़ रहे हैं। जो दौड़ हम दौड़ रहे हैं वह छोटी दूरी की नहीं है। जिसे तेज भागकर पूरा कर लिया जा सके। भारत और वास्तव में पूरी दुनिया को संक्रमण के प्रसार के लिए

आने वाले कई-कई महीनों और संभवत: सालों तक के लिए तैयार रहना होगा। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, आज तक कोरोना वायरस के 39,76,043 मामले थे। जबकि कोरोना वायरस महामारी के कारण 2,77,708 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मामलों के संख्या 67 हजार से अधिक हो गई है और अबतक 2200 से अधिक लोगों की मौत हुई है।

Next Story