Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

SCO के वर्चुअल सम्मेलन में उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने उठाया आतंकवाद का मुद्दा, बोले- सभी को मिलकर लड़ने की जरूरत

दिल्ली में उपराष्ट्रप​ति वेंकैया नायडू ने वर्चुअली संघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य राष्ट्रों के शासनाध्यक्षों की परिषद की 19वीं बैठक की अध्यक्षता की।

SCO के वर्चुअल सम्मेलन में बोले उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू- आतंकवाद से मिलकर लड़ने की जरूरत
X

SCO के वर्चुअल सम्मेलन में बोले उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू

उपराष्ट्रप​ति वेंकैया नायडू ने वर्चुअली संघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य राष्ट्रों के शासनाध्यक्षों की परिषद की 19वीं बैठक की अध्यक्षता की। वर्चुअल बैठक की अध्यक्षता करते हुये उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि पुरी दुनिया आतंकवाद से त्रस्त हो रही है। इसके लिए जरूरत है कि हम सब को एक साथ मिलकर आतंकवाद से लड़ना होगा। तभी पूरी दुनिया में अमन चैन से लोग रह पाएंगे।

पूरी दुनिया में फैले कोरोना महामारी में भारत की सफलता के बारे में भी उन्होंने कहा कि भारत ने बहादुरी से कोरोना वैश्विक महामारी का मुकाबला किया है और वायरस से लड़ने के साथ-साथ आर्थिक स्थिरता सुनिश्चित करने का उदाहरण पेश किया है। भारत ने पूरी दुनिया में कोरोना से डट कर मुकाबला किया है और यहीं कारण है कि पूरी दुनिया में मृत्यु दर भारत में ही कम है। इस दौरान भारत की अर्थव्यवस्था को लेकर वैंकेया नायडू ने कहा कि 2025 तक भारत की जीडीपी 5 ट्रिलियन तक पहुंचने की उम्मीद है।

साथ भारत युवा से भरा हुआ देश है यहां असीम संभावनाएं हैं। एससीओ सम्मलेन की मेजबानी भारत पहली बार कर रहा है। इससे पहले, 2017 में भारत एससीओ के स्थायी सदस्य बने थे। आपको बता दें कि भारत के अलावा इसके रूस, चीन, कजाख्स्तान, किर्गीजिस्तान, तजाकिस्तान, उज्बेकिस्तान और पाकिस्तान सदस्य है। पहले इस बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व विदेश मंत्री के स्तर किया जाता था लेकिन भारत इस बार की अध्यक्षता कर रहा है तो उप-राष्ट्रपति इसकी अगुवाई कर रहे है।

Next Story