Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फिल्म 3 इडियट के वैज्ञानिक सोनम वांगचुक ने कहा मेड इन चाइना का बहिष्कार तोड़ देगा चीन की कमर

Sonam Wangchuk : सोनम वांगचुक सिंधु नदी के किनारे बैठे हुए हैं, वांगचुक कहते हैं - मेरे पीछे जो पहाड़ियां दिख रही है, उसके दूसरी ओर वही क्षेत्र (चांगतांग और नुब्रा इलाके ) हैं जहां भारत और चीन सेना के बीच तनाव की स्थिति बढ़ रही है। वांगचुक ने कहा कि भारतीय नागरिक सैनिकों पर निर्भर हैं कि लड़ाई में वो जवाब देंगे, लेकिन मै उनसे कहना चाहता हूं कि अब हर भारतीय को इस लड़ाई में शामिल होना होगा। सबको प्रण लेना होगा कि चाइनीज माल का बहिष्कार कर, चीन की कमर तोड़ दें।

फिल्म 3 इडियट के वैज्ञानिक सोनम वांगचुक ने कहा मेड इन चाइना का बहिष्कार तोड़ देगा चीन की कमर
X

मैग्सेसे अवार्ड से सम्मनित सोनम वांगचुक ने भारतीय लोगों से अपील की है, कि वह चाइनीज माल (मेड इन चाइना) का बहिष्कार करें। सोनम वांगचुक ने साथ ही इसे भारतीय सैनिकों की मदद के रूप में बताते हुए कहा कि सिर्फ बुलेट से नहीं बल्कि वॉलेट से भी जवाब चीन को बहुत महंगा पड़ेगा। दरअसल पिछले कई दिनों से भारत चीन बॉर्डर (भारत चीन बॉर्डर, लद्दाख ) पर तनाव की स्थिति बनी हुई है, वहीं चीनी सेना और भारतीय सेना ने अपनी भारी संख्या में सुरक्षा बल को वहां पर तैनात किया है।

खबर है कि चीन के साथ भारतीय सेना की वायु सेना भी स्थल पर तैनात किए गए हैं। इसी को लेकर सोनम वांगचुक ने यूट्यूब पर एक वीडियो शेयर किया, इसमें उन्होंने भारत चीन की इस लड़ाई में भारतीय आम नागरिकों को आर्थिक रूप से इसमें शामिल होने को कहा।

लद्दाख बॉर्डर पर बैठकर समान वांगचुक ने बनाई वीडियो

वीडियो में सोनम वांगचुक सिंधु नदी के किनारे बैठे हुए हैं, वांगचुक कहते हैं - मेरे पीछे जो पहाड़ियां दिख रही है, उसके दूसरी ओर वही क्षेत्र (चांगतांग और नुब्रा इलाके ) हैं जहां भारत और चीन सेना के बीच तनाव की स्थिति बढ़ रही है।

वांगचुक ने कहा कि भारतीय नागरिक सैनिकों पर निर्भर हैं कि लड़ाई में वो जवाब देंगे, लेकिन मै उनसे कहना चाहता हूं कि अब हर भारतीय को इस लड़ाई में शामिल होना होगा। सबको प्रण लेना होगा कि चाइनीज माल का बहिष्कार कर, चीन की कमर तोड़ दें।

मेड इन चीन का करें बहिष्कार - सोनम वांगचुक

सोनम वांगचुक ने कहा कि इस समय भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में चीन के विरुद्ध रोष है, और इस समय अगर मेड इन चीन सामानों के बहिष्कार को लेकर अभियान चलाए तो ये बहुत बड़ा साबित हो सकता है। वांगचुक ने कहा कि चीन इस तरह अपने पडोसी देशों से लड़ाई इसलिए ही करता है कि उनके देश के लोग सरकार से नाराज नहीं हों, क्योंकि चीन की 140 करोड़ की जनता उनसे नाराज हो जाएगी तो एक बड़ा अभियान छिड़ जाएगा और चीन गवर्नमेंट का तख्तापलट हो सकता है।

चीन जनता है बंधुआ मजदूर

वांगचुक ने कहा कि चीन सरकार वहां की जनता से बंधुआ मजदूरों का काम लेती है, और कोरोना के बाद देश में आर्थिक सुस्ती के कारण मंदी है। इसी कारण से चीन के लोग नाराज चल रहे हैं, और इसी कारण से चीन सरकार उन लोगों का ध्यान भटकाना चाहती है। वांगचुक ने 1962 की भारत चीन लड़ाई को भी इसी तरह ध्यान भटकाने के लिए किया गया बताया। वांगचुक ने इस वीडियो में संदेश दिया कि सिर्फ सैनिक बुलेट से और जनता वॉलेट से चीन को जवाब दे।



Next Story