Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

SEBI ने NDTV पर लगाया 12 लाख रुपये का जुर्माना, जानिए क्या है पूरा मामला

पूंजी बाजार नियामक सेबी ने शेयर बाजारों को समय पर जानकारी नहीं देने को लेकर नयी दिल्ली टेलीविजन लि. (एनडीटीवी) पर 12 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने एनडीटीवी द्वारा नियम के तहत सूचनाएं सार्वजनिक करने के मामलों में कई चूक पाये जाने के बाद यह आदेश दिया।

Photo: SEBI/NDTV
X
Photo: SEBI/NDTV

पूंजी बाजार नियामक सेबी ने शेयर बाजारों को समय पर जानकारी नहीं देने को लेकर नयी दिल्ली टेलीविजन लि. (एनडीटीवी) पर 12 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने एनडीटीवी द्वारा नियम के तहत सूचनाएं सार्वजनिक करने के मामलों में कई चूक पाये जाने के बाद यह आदेश दिया।

नियामक का कहना है कि कंपनी के खिलाफ शेयरों की की बड़ी खरीद और अधिग्रहण (एसएएसटी) के नियम का अनुपालन नहीं करने का भी मामला पाया गया है। सेबी ने कहा कि इंडियाबुल्स फाइनेंशियल सर्विसेज ने जनवरी 2018 में एनडीटीवी के 40 लाख शेयर का अधिग्रहण किया।

यह कंपनी की कुल शेयर पूंजी का 6.40 प्रतिशत है। नियामक ने 17 जून के अपने एक आदेश में कहा कि पुन: एनडीटीवी के प्रवर्तकों ने जुलाई 2008 में खुली पेशकश के तहत कुल 20.28 प्रतिशत शेयर पूंजी का अधिग्रहण किया।

इस सौदे के बाद इकाइयों को एसएएसटी नियम के संबंधित प्रावधानों के तहत जरूरी जानकारी देनी थी। वहीं एनडीटीवी को इस बारे में बीएसई और नेशनल स्टाक एक्सचेंज को सूचना देनी थी।

आदेश के तहत हालांकि मीडिया कंपनी ने अपने प्रवर्तकों तथा इंडियाबुल्स फाइनेंशियल सर्विसेज की शेयरधारिता में बदलाव को लेकर समय पर खुलासा नहीं किया और जानकारी देने में देरी की। इसके परिणामस्वरूप एनडीटीवी पर 12 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

पिछले सप्ताह नियामक ने एनडीटीवी के तीन प्रमुख प्रवर्तकों...प्रणय राय, राधिक राय और उनकी होल्डिंग कंपनी आरआरपीआर होल्डिंग पर पूंजी बाजार पर पहुंच को लेकर दो साल की पबंदी लगायी थी। साथ ही दोनों लोगों को कंपनी में इस अवधि के दौरान निदेशक मंडल या शीर्ष प्रबंधन स्तर की भूमिका लेने से रोक दिया है।

सेबी ने दोनों पर किसी अन्य सूचीबद्ध कंपनी के निदेशक मंडल या प्रमुख प्रबंधकीय पद लेने को लेकर एक साल के लिये रोक लगायी है। साथ ही कर्ज समझौतों को लेकर अल्पांश शेयरधारकों को अंधेरे में रखने को लेकर लताड़ लगाई।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story