Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Mann Ki Baat 2020: मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री द्वारा कही गई महत्वपूर्ण बातें

Mann Ki Baat 2020: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गणतंत्र दिवस के मौके पर मन की बात प्रोग्राम के तहत भारत वासियों को संबोधित कर रहें हैं। यह मन की बात वर्ष 2020 की पहली मन की बात है।

Coronavirus: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की अपील, पीएम केयर्स में दान देकर करें कोरोना वायरस पीड़ितों की मददCoronavirus: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की अपील, पीएम केयर्स में दान देकर करें कोरोना वायरस पीड़ितों की मदद

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गणतंत्र दिवस के मौके पर मन की बात प्रोग्राम के तहत भारत वासियों को संबोधित किया था। यह मन की बात प्रधानमंत्री द्वारा वर्ष 2020 की पहली मन की बात थी। मन की बात 2020 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सबसे पहले सभी देश वासियों को 71वे गणतंत्र दिवस की शुभकामाएं दी।

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कई महत्वपूर्ण बातों को भारत वासियों के सामने रखा। नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर हिंसा को लेकर अपनी राय रखी है। नरेंद्र मोदी ने कहा कहीं पर भी हिंसा होना गलत है और इससे किसी भी समस्या का समाधान नहीं हो सकता है।

Mann Ki Baat 2020:

नरेंद्र मोदी ने कहा कि दिल बदलते हैं समय बदलता है लेकिन भारत वासियों का उत्साह कभी काम नहीं होता बल्कि और बढ़ता जाता है। नरेंद्र मोदी ने जल संरक्षण अभियान की चर्चा करते हुए कहा कि उसका सकारात्मक असर अब दिखने लगा है। उन्होंने कहा एक समय था जब यूपी के बाराबंकी में एक झील थी जो सूखी थी लेकिन अब जल से भरी हुई है, क्योंकि वहां के लोगों ने उस झील को नया जीवन दिया है।

Mann Ki Baat: खेलों इंडिया की चर्चा

नरेंद्र मोदी ने अपने मन की बात कार्यकर्ता में असम में हुए खेलो इंडिया के तीसरे संस्करण के सफल आयोजन का भी जिक्र किया। उन्होंने खेलो इंडिया असम के सफल आयोजन के लिए सबका धन्यवाद किया है।

Mann Ki Baat: भारत में भी है डेविड बेकहम

प्रधानमंत्री ने कहा अगर मै डेविड बेकहम का नाम लूंगा तो आपके दिमाग में इंटरनेशनल फुटबॉल के बारे में आएगा, लेकिन अब हमारे यहाँ भी डेविड बेकहम है जिसने गुवाहाटी खेलो इंडिया युथ गेम्स में स्वर्ण पदक भी जीता है।

Mann Ki Baat: ब्रू जनजाति के लोगों को मिला आसरा

प्रधानमंत्री ने कहा जब कुछ दिन पहले देशभर में पोंगल, लोहरी, बिहू आदि त्यौहार मनाए जा रहे थे उस समय दिल्ली में एक समझौता हुआ जिससे लगभग 34 हजार ब्रू रियांग जनजाति के लोगों को फायदा पहुंचा। इससे 25 साल की समस्या का भी अंत हो गया।

यह समझौता भारत के गृहमंत्री अमित शाह की मौजूदगी में हुआ जिसमे मिजोरम और त्रिपुरा के मुख्यमंत्री भी शामिल हुए थे। इस समझौते के तहत करीब 30 हजार से अधिक ब्रू जनजाति के लोगों को त्रिपुरा में बसाया जाएगा। इन शरणार्थियों को बसाने के लिए सरकार ने 600 करोड़ देकर मदद करेगी।

इसके तहत इन लोगों को रहने के लिए प्लॉट और आर्थिक सहायता भी दी जाएगी। सरकार इन शरणार्थियों को बसाने के लिए 2 साल तक 5 हजार रुपये सहायता के रूप में भी देगी।

Next Story
Top