Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

'Howdy Modi' इवेंट से पीएम मोदी और ट्रंप दुनिया को दे सकते हैं बड़ा संदेश, इन मुद्दों पर होगी चर्चा

अमेरिका के ह्युस्टन में होने वाले 'हाउडी मोदी' इवेंट में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल़्ड ट्रंप भी शामिल होंगे। पीएम मोदी के साथ वह भी इंडो-अमेरिकी लोगों को संबोधित करेंगे। जिसकी पुष्टि खुद व्हाइट हाउस ने की है।

PM and Trump big message to world Howdy Modi Show

इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है जब दो ताकतवर देशों के प्रमुख एक मंच पर साथ नजर आएंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ शामिल होने वाली हाउडी रैली को लेकर व्हाइट हाउस ने खुद पुष्टि की है। इस समारोह को भारत ने अनूठा और ऐतिहासिक बताया है।

22 सितंबर को है कार्यक्रम

'हाउडी मोदी' कार्यक्रम 22 सितंबर को अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में आयोजित होगा। यह कार्यक्रम ऐतिहासिक होगा क्योंकि इतिहास में यह पहली बार है जब भारतीय समुदाय के 50 हजार से ज्यादा लोगों को दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के नेता के संबोधन सुनने के लिए एकजुट होंगे।

भारत-अमेरिका के बीच दोस्ती का खास संकेत

पीएम मोदी ने ट्वीट में कहा कि ह्यूस्टन में मेरे साथ अमेरिकी राष्ट्रपति की मौजूदगी अमेरिकी समाज और अर्थव्यवस्था में भारतीय समुदाय के योगदान को मान्यता देता है। उन्होंने लिखा यह फैसला भारत और अमेरिका के बीच मजबूत रिश्ते का इशारा है। 22 को ह्यूस्टन में आयोजित होने वाले कम्युनिटी प्रोग्राम में डॉनल्ड ट्रंप भी होंगे, इससे काफी खुश हूं। उन्होंने आगे कहा कि भारतीय समुदाय के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए काफी उत्साहित हूं।


पीएम मोदी का अमेरिका में तीसरा सबसे बड़ा इवेंट

पहली बार 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद ये भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित करने का पीएम मोदी का तीसरा बड़ा इवेंट होगा। 2014 में न्यूयार्क के मेडिसन स्क्वॉयर में दो कार्यक्रम आयोजित किए गए थे। जबकि 2016 में सिलिकॉन वैली में कार्यक्रम आयोजित किया गया था।

ट्रंप ने स्वीकार किया आमंत्रण

व्हाइट हाऊस के अधिकारियों का कहना है कि मोदी के निमंत्रण मिलने के तुरंत बाद ही ट्रंप ने हामी भर दी, ट्रंप और मोदी के बीच दुनिया को कमाल की केमेस्ट्री देखने को मिलती है।

दोहरा झटका लगेगा पाकिस्तान को

पीएम मोदी और ट्रंप की यह जुगलबंदी पड़ोसी देश पाकिस्तान के लिए किसी जोरदार झटके से कम नहीं है, जो कश्मीर को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति से मध्यस्थता की रट लगा रहा है।


ट्रंप के इवेंट में शामिल होने की घरेलू वजह भी

मोदी की रैली में ट्रंप के पहुंचने की कुछ घरेलू वजहें भी हैं। 130 करोड़ की आबादी वाला भारत ऊर्जा का बड़ा आयातक देश है और पहले से ही ह्यूस्टन से बड़ी मात्रा में तेल और गैस खरीदा जा रहा है। यहां भारतीय समुदाय की अच्छी-खासी आबादी रहती है। ह्यूस्टन में ही डेढ़ लाख से अधिक भारतीय मूल के लोग रहते हैं। एक और अहम वजह टेक्सस में होने वाला 2020 का चुनाव है। मोदी के मेगा शो में करीब 60 सांसदों में रिपब्लिकन और डेमोक्रैट्स दोनों ही पहुंच सकते हैं।

Next Story
Share it
Top