Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

NIA ने पटना आतंकी मॉड्यूल की जांच शुरू की, 3 संदिग्धों के घरों पर छापेमारी

बिहार पुलिस (Bihar Police) के द्वारा पटना में एक आतंकवादी मॉड्यूल (terrorist module busted) का भंडाफोड़ करने के दो हफ्ते बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी (National Investigation Agency- एनआईए) ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

NIA ने पटना आतंकी मॉड्यूल की जांच शुरू की, 3 संदिग्धों के घरों पर छापेमारी
X

बिहार पुलिस (Bihar Police) के द्वारा पटना में एक आतंकवादी मॉड्यूल (terrorist module busted) का भंडाफोड़ करने के दो हफ्ते बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी (National Investigation Agency- एनआईए) ने मामले की जांच शुरू कर दी है। साथ ही टीम दरभंगा में तीन संदिग्ध आतंकवादियों, नूरुद्दीन (Nuruddin), सनाउल्लाह और मुस्तकीम (Sanaullah and Mustaqeem) के घरों पर छापेमारी कर रही है। तीनों आरोपी पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI- पीएफआई) के सक्रिय सदस्य हैं।

हाल ही में लखनऊ में गिरफ्तार किए जाने के बाद इन तीनों में से नूरुद्दीन फिलहाल पटना की जेल में बंद है। हालांकि सनाउल्लाह और मुस्तकीम फिलहाल फरार हैं। सूत्रों ने बताया कि एनआईए की तीन टीमें नूरुद्दीन, सनाउल्लाह और मुस्तकीम के गांवों में सुबह से ही मौजूद हैं और उनके घरों की तलाशी ले रही हैं। मॉड्यूल 2047 तक भारत को एक इस्लामिक राष्ट्र बनाने की योजना बना रहा था। रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाने की साजिश भी थी। फिलहाल मामले की जांच एनआईए कर रही है। गृह मंत्रालय ने हाल ही में पटना पुलिस से पटना आतंकी मॉड्यूल मामले को राष्ट्रीय जांच एजेंसी को सौंपने का आदेश दिया था।

पीएफआई के सक्रिय सदस्यों समेत 26 संदिग्ध आतंकियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है और बाकी फरार हैं। पटना आतंकी मॉड्यूल मामले का पर्दाफाश 14 जुलाई को अतहर परवेज और झारखंड पुलिस के सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी मोहम्मद जलालुद्दीन की गिरफ्तारी के साथ हुआ था। पीएफआई के इन दोनों सक्रिय सदस्यों को पटना के फुलवारी शरीफ से गिरफ्तार किया गया था।

और पढ़ें
Next Story