Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जानें क्यों मिला था मदर टेरेसा को नोबेल शांति पुरस्कार, क्या मिलती हैं सुविधाएं

दुनिया में हर साल नोबेल शांति पुरस्कारों (Nobel Prize) का ऐलान किया जाता है। यह सम्मान मदर टेरेसा (Mother Teresa) को भी मिला है।

जानें क्यों मिला था मदर टेरेसा को नोबेल शांति पुरस्कार, क्या मिलती हैं सुविधाएंMother Teresa Nobel Peace Prize Facilities

मदर टेरेसा (Mother Teresa), भारत में यह नाम हर एक बच्चा जानता है। जिन्होंने अपना पूरा जीवन मानव समाज की सेवा में लगा दिया। गरीबों को गले लगाना और बीमार लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने की कोशिश करने वाली मदर टेरेसा का संबंध भारत के कोलकाता रहे रहा है। उन्हें नोबेल शांति पुरस्कार (Nobel Peace Prize Award) से भी सम्मानित किया जा चुका है।

मदर टेरेसा कैथोलिक नन थी। जिन्होंने दुनिया को शांति का पैगाम दिया और उन्हें शांति दूत भी कहा जाता है। मदर टेरेसा जन्म 27 अगस्त 1910 को को स्कॉप्जे में हुआ, जो बाल्कन में है। उनके पिता एक साधारण व्यवसायी थे। उनका पूरा नाम एग्नेस गोंक्सा बोजाक्सीहु था, जो बाद में मदर टेरेसा बनीं।

उन्हें शांति के लिए 1979 के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। अपने मानवीय कार्यों के लिए उन्हें कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था। टेरेसा को भारतीय नागरिकों को दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान ज्वैल ऑफ इंडिया भी मिल चुका है।

मदर टेरेसा नोबेल पुरस्कार

नोबेल फाउंडेशन ने साल 1979 में मदर टेरेसा को दुनिया में गरीबी और संकट से उबारने के लिए किए गए योगदान के लिए शांति का नोबेल पुरस्कार दिया गया था। मदर टेरेसा को पोप फ्रांसिस ने सेंट टेरेसा की उपाधि से नवाजा था। हालांकि एक कार्यक्रम में उन्होंने शामिल होने से इनकार कर दिया था। जिसमें नोबेल सम्मान भोज था। भारत में गरीबों की मदद के लिए उन्होंने 192000 डालर की पुरस्कार राशि का भलाई में लगाने के लिए किया था। यह पुरस्कार शांति, साहित्य, भौतिकी, केमिस्ट्री, मेडिसिन और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में दिया जाता है। जो अल्फ्रेड नोबेल के नाम रखा गया था।

नोबेल पुरस्‍कार के साथ सुविधा

नोबेल पुरस्कार के साथ नोबेल फाउंडेशन विजेता को ईनाम राशि भी देती है। 2017 तक यह 8 मिलियन स्‍वीडिश क्राउन थी जो अब 9 हो गई है। भारतीय क्रंसी के मुताबिक, 7 करोड़ रुपए ऊपर पैसा मिलता है।

Next Story
Share it
Top