Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

एमएम कुलबर्गी हत्याकांडः SIT ने छह लोगों के खिलाफ दायर की चार्जशीट

डॉ. एमएम कुलबर्गी की हत्या के मामले में विशेष जांच दल (एसआईटी) ने छह लोगों के खिलाफ चार्जशीट दायर की है। एसआईटी ने अमोल काले, गणेश मिस्किन, प्रवीण प्रकाश चतुर, वासुदेव भगवान सूर्यवंशी, शरद कालसकर और अमित रामचंद्र बद्दी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है।

एमएम कुलबर्गी हत्याकांडः SIT ने छह लोगों के खिलाफ दायर की चार्जशीट

डॉ. एमएम कुलबर्गी की हत्या के मामले में विशेष जांच दल (एसआईटी) ने छह लोगों के खिलाफ चार्जशीट दायर की है। एसआईटी ने अमोल काले, गणेश मिस्किन, प्रवीण प्रकाश चतुर, वासुदेव भगवान सूर्यवंशी, शरद कालसकर और अमित रामचंद्र बद्दी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है।

बता दें कि इससे पहले डॉ. कुलबर्गी की पत्नी ने उनकी हत्या की एसआईटी जांच की मांग के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि कर्नाटक हाईकोर्ट की धारवाड़ बेंच की निगरानी में एसआईटी जांच करेगी।

वहीं अब एसआईटी ने छह आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। बता दें कि एमएम कुलबर्गी कर्नाटक के प्रसिद्ध साहित्यकार और हम्पी विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति ती। उन्हें अपने शोध और लेखों के एक संग्रह के लिए साल 2006 में राष्ट्रीय साहित्य अकादमी पुरस्कार दिया गया था।

बता दें कि तीस अगस्त 2015 को एक मोटरसाइिल पर दो व्यक्ति कुलबर्गी के धारवाड़ स्थित आवास पर आए। उन्होंने दरवाजा खटखटाया। इसके बाद कुलबर्गी की पत्नी उमादेवी ने जब दरवाजा खोला तो उन्होंने खुद को कुलबर्गी के छात्र के रूप में पेश किया था। इसके बाद जैसे ही उमा देवी उनके लिए कॉफी लेने के लिए अंदर गईं, सुबह 8 बजकर 40 मिनट पर उनमें से एक ने दो राउंड फायरिंग कर दी। इस फायरिंग में कुलबर्गी के सीने और माथे पर चोट लगी। इस दौरान दूसरा शख्य मोटरसाइकिल चलाते हुए बाहर इंतजार करता रहा।

फायरिंग के तुरंत बाद हत्यारे मोटरसाइकिल पर घटनास्थल से भाग गए। इसके बाद एक एम्बुलेंस को बुलाया गया और कलबुर्गी को बचाने की कोशिश की गई। उन्हें पहले एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया और फिर बाद में धारवाड़ के जिला अस्पताल में ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। 31 अगस्त को धारवाड़ में उनके शव का अंतिम संस्कार किया गया था।

Next Story
Share it
Top