Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

केंद्र सरकार व्यवस्था बनाए तो हिंदू समाज तुरंत राम मंदिर निर्माण शुरू कर सकता है : मिलिंद परांडे

9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले पर फैसले सुनाया। कोर्ट ने विवादित 2.77 एकड़ जमीन रामलला विराजमान को सौंप दी और मंदिर निर्माण के लिए केंद्र सरकार को ट्रस्ट बनाने का आदेश दिया था।

केंद्र सरकार व्यवस्था बनाए तो हिंदू समाज तुरंत राम मंदिर निर्माण शुरू कर सकता है :  मिलिंद परांडेमिलिंद परांडे

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में हिंदू पक्ष को जमीन देकर राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ कर दिया है। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के वरिष्ठ नेता मिलिंद परांडे ने आज राम मंदिर निर्माण को लेकर बयान दिया है।

मिलिंद परांडे ने कहा है कि यदि सरकार व्यवस्था बनाए तो हिंदू समाज तत्काल राम मंदिर निर्माण कार्य शुरू कर सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि राम मंदिर के लिए 60 फीसदी निर्माण सामग्री और नक्शा तैयार है। हम दूसरी बुनयादी चीजों का हम ख्याल रख रहे हैं।

राम मंदिर का निर्माण 2020 में शुरू हो सकता है

आपको बता दें कि समाचार एजेंसी एएनआई के हवाले से सूत्रों के मुताबिक खबर है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण 2020 में शुरू हो सकता है। मंदिर का निमार्ण कार्य 2022 तक यह पूरा हो जाएगा। बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार राम मंदिर के लिए सोमनाथ मंदिर की तर्ज पर ट्रस्ट के निर्माण पर विचार कर रही है। जो राम मंदिर के निर्माण कार्य की देखरेख करेगा।

बता दें कि 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले पर फैसले सुनाया। कोर्ट ने विवादित 2.77 एकड़ जमीन रामलला विराजमान को सौंप दी और मंदिर निर्माण के लिए केंद्र सरकार को ट्रस्ट बनाने का आदेश दिया था।

Next Story
Share it
Top