Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बड़ी खबर: जम्मू कश्मीर में तीन जवानों की शहादत का भारत ने दिया करारा जवाब, 8 पाकिस्तानी सैनिकों को किया ढेर

पाकिस्तान की ओर से नॉर्थ कश्मीर में अंधाधुंध फायरिंग किया गया। जिसमें भारत के तीन जवान शहीद हो गए। वहीं, तीन स्थानीय लोगों की भी मौत हो गई।

J-K: तीन जवानों की शहादत का भारत ने दिया करारा जवाब, 8 पाकिस्तानी सेना को किया ढेर
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

जम्मू-कश्मीर के नॉर्थ कश्मीर में एलओसी से सटे तीन सेक्टरों में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी की गई। इस गोलीबारी में भारतीय सेना के तीन जवान शहीद हो गए हैं। इन शहीद जवानों का बदला लेने के लिए भारतीय सुरक्षाबलों ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया।

भारतीय सेना के सूत्रों के मुताबिक, नियंत्रण रेखा के पार से संघर्षविराम उल्लंघन के जवाब में भारतीय सेना ने जवाबी फायरिंग में पाकिस्तान के सात से आठ जवान को ढेर किया है। भारतीय सेना ने बताया कि मारे गए पाकिस्तानी सेना के सैनिकों में से 2-3 पाकिस्तानी सेना विशेष सेवा समूह (एसएसजी) कमांडो शामिल हैं।

जबकि भारतीय सेना की गोलीबारी में 10-12 पाकिस्तानी सेना के जवान घायल हो गए। इसके अलावा भारत की ओर से गोलीबारी में बड़ी संख्या में पाकिस्तान सेना के बंकर, ईंधन डंप और लॉन्च पैड भी नष्ट हो गए। भारतीय सेना के उच्चाधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान की ओर से बारामूला जिले के हाजीपीर इलाके में गोलीबारी की गई।

इसके अलावा तंगधार सेक्टर और गुरेज सेक्टर में भी पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया।

इस दौरान पाकिस्तानी सेना ने गोलीबारी की, मोर्टार दागे। जिसमें बीएसएफ एसआई राकेश डोवाल समेत सेना के दो अन्य जवान शहीद हो गए। वहीं, तीन स्थानीय लोग की भी मौत हो गई। जबकि एक अन्य नागरिक बुरी तरह से घायल हो गए है।

पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी के बाद सीमा से सटे गांव के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया। बता दें 7-8 नवंबर की रात को माछिल सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से घुसैपठ करने की कोशिश की गई थी। जिसे भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया।

साथ ही भारत ने अपने जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकियों को ढेर कर दिया।

पाकिस्तान की ओर से बढ़ता जा रहा सीजफायर का उल्लंघन

भारतीय सेना के स्रोतों ने बताया कि इस साल पाकिस्तान की ओर से 4,052 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया गया। जिसमें नवंबर में 128 और अक्टूबर में 394 संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था। वहीं, पिछले साल 3,233 बार सीजफायर की रिपोर्ट दर्ज की गई थीं।

इस आंकड़े से अंदाजा लगाया जा सकता है कि पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन बढ़ गया है।

Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story