Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कश्मीर पर भारत ने दिया अमेरिका को जवाब, कहा तीसरे पक्ष की कोई जरुरत नहीं

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि कश्मीर का मुद्दा हमारा है और हम बिल्कुल नहीं चाहेंगे कि कोई तीसरा पक्ष इस मुद्दे में कोई भी भूमिका निभाए।

कश्मीर पर भारत ने दिया अमेरिका को जवाब, कहा हमें तीसरे पक्ष की कोई जरुरत नहीं
X
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार कश्मीर के मुद्दे पर

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की हाल ही में मुलाकात हुई, जिसमें कश्मीर का भी मुद्दा उठाया गया। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि हम भारत और पाकिस्तान के संबंध में कश्मीर को लेकर सोच रहे हैं। उन्होंने ये भी कहा कि अगर हम मदद कर सकते हैं तो हम जरुर ऐसा करेंगे। डोनाल्ड ट्रंप की इस बात पर भारत ने उन्हें करारा जवाब दिया।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि कश्मीर का मुद्दा हमारा है और हम बिल्कुल नहीं चाहेंगे कि कोई तीसरा पक्ष इस मुद्दे में कोई भी भूमिका निभाए। कश्मीर के मुद्दे में हमारा स्टैण्ड पूरी तरह से क्लियर है। मैं एक बार फिर से दोहराता हूं कि इस मामले में तीसरे पक्ष की किसी भी भूमिका की हमें बिल्कुल जरूरत नहीं है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने आगे कहा कि यदि भारत और पाकिस्तान में कोई द्विपक्षीय मुद्दा है, जिस पर चर्चा करने की जरूरत है तो इसे शिमला समझौते के अनुसार दो देशों के बीच किया जाना चाहिए। लेकिन इसके लिए पाकिस्तान को ऐसा माहौल पैदा करना होगा जिसमें आतंक, दुश्मनी और हिंसा का नामोनिशान ना हो।

जब रवीश कुमार से पूछा गया कि दोनों देश अपने बीच के मुद्दे कैसे सुलझा सकते हैं तो जवाब में रवीश कुमार ने कहा कि गेंद पाकिस्तान के पाले में है। उसे सबसे पहले आतंकवाद को जड़ से खत्म करना होगा और शांति बनानी होगी। रवीश कुमार ने आगे कहा कि अगर शांति का माहौल हो जाए तो दोनों देश आपस में ही अपने मुद्दे सुलझा सकते हैं।

ट्रंप ने पिछले साल भी कश्मीर पर अपनी राय रखी थी और मदद की भी पेशकश की थी। पिछले साल अगस्त में डोनाल्ड ट्रंप ने ये कहा था कि अगर भारत चाहे तो वो कश्मीर मामले में मध्यस्थता करने के लिए तैयार हैं, फिर बाद में उन्होंने कहा था कि इस मामले को भारत और पाकिस्तान आपस में ही सुलझा ले तो बेहतर होगा।

Next Story
Top