Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

India : 72 वर्षों की यात्रा, अखंड भारत-स्वतंत्रता भारत

2022 तक हर देशवासी को अपना घर देना सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं में एक है। जिस तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी योजनाएं बनाते हैं और फिर उसे समय से पहले पूरा करते हैं। इसमें किसी को कोई शक नहीं होना चाहिए कि जब देश आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा होगा तब हर देशवासी के पास अपना घर होगा।

India : 72 वर्षों की यात्रा, अखंड भारत-स्वतंत्रता भारतIndia 72 years journey united India independence India Story

भारत देश आजादी की 73वीं वर्षगांठ मना रहा है। हमें यह आजादी कठिन राह से गुजरकर और बहुत-सी कुर्बानियां देकर हासिल हुई है। आजादी की कीमत हमने शहीदों के खून और देशवासियों के बलिदान से चुकाई है। इतिहास के पन्नों को खंगालें तो उन बलिदानों पर से पर्दा उठता है और उन दिनों की स्मृतियां ताजा हो उठती हैं। यही कारण है कि आजादी के दिन पूरा देश जश्न में डूबा होता है। इस बार यह उल्लास दोगुना है।

सही मायने में कहें तो जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 और 35ए हटने के बाद कश्मीर से कन्याकुमारी तक अखंड भारत का पहला स्वतंत्रता दिवस है। हम गर्व से कह सकते हैं कि पूरा देश एक है, एक कानून है, एक विधान है और हम एक हैं। आजादी का यह उल्लास देशभर में उसी दिन नजर आ गया था जब गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में धारा 370 समाप्ति का प्रस्ताव रखा था। पूरे देश ने नरेंद्र मोदी सरकार के इस फैसले को उत्सव की तरह बनाया।

इस फैसले के बाद पहला और प्रधानमंत्री बनने के बाद छठा मौका होगा जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लालकिले पर तिरंगा फहराने के बाद देश को संबोधित करेंगे। उनके इस संबोधन पर देश ही नहीं पूरी विश्व बिरादरी की निगाहें टिकी हुई हैं। हर कोई यह जानने की जिज्ञासा में है कि जम्मू-कश्मीर पर अहम फैसला लेने के बाद क्या कहते हैं। वैसे भी अपने छह साल के कार्यकाल में उन्होंने देश की समस्याओं को दूर करने और हर देशवासी की उम्मीद पर खरा उतरने का काम किया है।

चाहे पिछले कार्यकाल में नोटबंदी, जीएसटी, सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक हो या इस कार्यकाल के महज 75 दिनों में तीन तलाक, श्रम कानून संशोधन और धारा 370 और 35ए हटाने की बात, उन्होंने साहस से हर फैसला लिया है। सरकार के इन्हीं फैसलों से देश उल्लास में डूबा है, लेकिन इतना सब होने के बाद भी कुछ विध्नसंतोषी भी हैं जो सियासी कारणों से देशहित को ताक में रखकर पाकिस्तान जैसी भाषा बोल रहे हैं।

देश की 124 करोड़ जनता ने जिस विश्वास, उम्मीद और अाकांक्षा के साथ नरेंद्र मोदी को दूसरी बार देश की बागडोर सौंपी थी, वो उसमें अभ्ाी तक सौ फीसदी खरे उतरे हैं। आजादी के इन 72 वर्षों की यात्रा में देश ने बहुत कुछ पाया है। हमें चांद और मंगल तक को खंगाला है, लेकिन अभी भी बहुत कुछ किया जाना शेष है। सबको शिक्षा, सबको स्वास्थ्य, बेरोगारों को रोजगार, समय पर न्याय, महिलाओं, गरीबों, दलितों और वंचित दबकों को सशक्त किया जाना बाकी है।

हमारे विकास की मुख्यधारा में जो तबके अभी तक शामिल नहीं हो पाए हैं या फिर किन्हीं कारणों से पिछड़ गए हैं उन्हें विकास की मुख्यधारा में न केवल शामिल करना बल्कि साथ लेकर चलना बहुत जरूरी है। देश के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक सुविधाएं पहुंचना सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल रहा है। इसके अलावा नई सरकार के गठन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लिए जो संकल्प लिए हैं, उस दिशा में भी तेजी से कदम बढ़ाए जा रहे हैं।

2022 तक हर देशवासी को अपना घर देना सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं में एक है। जिस तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी योजनाएं बनाते हैं और फिर उसे समय से पहले पूरा करते हैं। इसमें किसी को कोई शक नहीं होना चाहिए कि जब देश आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा होगा तब हर देशवासी के पास अपना घर होगा।

यह सब तो सरकार कर रही है और करेगी, लेकिन आजादी के इस पर्व पर हम सब देशवासियों का भी कुछ दायित्व है। हम सब यह जरूर सोचें कि हम देश के लिए क्या कर रहे हैं, हमने देश को क्या दिया है।

हमारे पुरखों ने आजादी के लिए अपना सब कुछ बलिदान कर दिया, क्या हम उस आजादी को संजोकर रखने या देश को उन्नति के मार्ग पर लेने जाने के लिए कुछ कर रहे हैं। अगर नहीं तो चिंतन करें, मनन करें और जुट जाएं।

Share it
Top