Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haribhoomi-Inh News: संक्रांति: सपा की क्रांति योगी की दलित 'शांति' 'चर्चा' प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा में, संक्रांति: सपा की क्रांति योगी की दलित 'शांति' जिसका संदर्भ है...

Haribhoomi-Inh News: संक्रांति: सपा की क्रांति योगी की दलित शांति चर्चा प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ
X

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा में, संक्रांति: सपा की क्रांति योगी की दलित 'शांति' जिसका संदर्भ है... यूपी विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस ली है। विधानसभा चुनाव की सरगर्मियों के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यामंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को गोरखपुर में एक दलित परिवार के घर में आयोजित सहभोज में शामिल हुए। जमीन पर बैठकर भोजन किया।

इसके बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि वंशवाद और परिवारवाद की राजनीति करने वाले सामाजिक न्याय के समर्थक नहीं हो सकते। सीएम योगी ने कहा कि भ्रष्टाचार जिनके जीन्स का हिस्सा हो, वे सामाजिक न्याय की लड़ाई नहीं लड़ सकते, सामाजिक समरसता का संदेश देते हुए एक दलित के यहां, सामाजिक न्याय यह है कि शासन की योजनाओं का लाभ हर गरीब को मिले। उनके साथ सामाजिक-आर्थिक भेदभाव न हो। यही भाजपा का मूल मंत्र है… अब सवाल है कि मकर संक्रांति पर सीएम योगी आदित्यनाथ क्या संदेश देना चाहतें हैं

संक्रांति: सपा की क्रांति योगी की दलित 'शांति'

'चर्चा'

संक्रांति के मौके पर दलित के घर सीएम योगी ने किया भोजन

यूपी के गोरखपुर में शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक दलित परिवार के घर खाना खाया। सीएम योगी झुमिया गेट स्थित गोरखपुर फर्टिलाइजर पहुंचे। जहां उन्होंने पार्टी के एक दलित कार्यकर्ता अमृतलाल भारती पर लंच किया। इसी दौरान सीएम ने देशवासियों के साथ-साथ पार्टी कार्यकर्ताओं को भी मकर संक्रांति की शुभकामनाएं दीं। सीएम ने कहा कि केंद्र की योजनाओं का लाभ यूपी के परिवारों को मिला है। यह डबल इंजन सरकार की दोहरी खुराक है। जो यूपी की जनता को मिल रही है।

सपा के जलसे पर लखनऊ में एफआईआर

जबकि दूसरी तरफ दोपहर में ही मकर संक्रांति के मौके पर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले लखनऊ स्थित समाजवादी पार्टी के खिलाफ धारा 144 तोड़ने और महामारी अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज हो गई है। सपा की वर्चुअल रैली हुई, जिसमें भारी भीड़ दिखी। स्वामी प्रसाद मौर्य और डॉ धरम सिंह सैनी समेत बीजेपी के कई विधायक सपा प्रमुख अखिलेश यादव की मौजूदगी में पार्टी में शामिल हुए। यहां रैली को अखिलेश और मोर्य ने संबोधित किया। चुनाव आयोग के आदेश पर कार्रवाई की गई और डीएम ने जांच के आदेश भी दे दिए।

Next Story