Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haribhoomi-Inh News: 'धर्म' में धोखा क्यों ? 'चर्चा' प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ

Haribhoomi-Inh Exclusive: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने नोएडा में धर्मांतरण का खुलासा होने के मामले पर बातचीत की।

Haribhoomi-Inh News: धर्म में धोखा क्यों ? चर्चा प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ
X

Haribhoomi-Inh Exclusive: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने नोएडा में धर्मांतरण का खुलासा होने के मामले पर बातचीत की। 'धर्म' में धोखा क्यों ? दरसल यह सवाल इसलिए उठ रहा है क्यूंकि उत्तर प्रदेश पुलिस की आतंकवाद निरोधी शाखा (एटीएस ) ने दो मुसलमान धर्मगुरुओं को साज़िश के तहत हिंदुओं का धर्म परिवर्तन कराने के आरोप में गिरफ़्तार किया है। इनमें से एक ख़ुद हिंदू धर्म में पैदा हुए थे और 1984 में इस्लाम धर्म अपनाया था। मोहम्मद उमर गौतम और मुफ्ती काजी जहांगीर आलम कासमी को दिल्ली के जामिया नगर इलाके से हिरासत में लिया गया है। ये दोनों धर्मगुरु मूक-बधिर छात्रों और कमजोर आय वर्ग के लोगों को पैसा, नौकरी और शादी का लालच देकर मुसलमान बना रहे थे। ये धर्मगुरु पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई और विदेशों से फ़ंडिंग भी लेते थे।

कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने हनुमानगढ़ी अयोध्या महंत राजू दास, अलइमाम वेलफेयर एसो. मसरूर हसन खान, छत्तीसगढ़ नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक और कांग्रेस प्रवक्ता अंशु अवस्थी से खास चर्चा की। खास कार्यक्रम के दौरान इन मेहमानों से कई सवाल पूछे...

'धर्म' में धोखा क्यों ?

'चर्चा'

उत्तर प्रदेश के नोएडा जिले में धर्मांतरण मामले पर योगी सरकार ने बड़ा एक्शन लिया है। सीएम योगी ने जांच एजेंसियों को धर्मांतरण मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने आरोपित पर एनएसए एक्ट के तहत मामला दर्ज करने के भी निर्देश दिए हैं। राज्य सरकार ने अधिकारियों को धर्मांतरण रैकेट के आरोपियों की संपत्तियों को जब्त करने की प्रक्रिया शुरू करने का निर्देश दिया है। लखनऊ कोर्ट में दोनों आरोपितों की पुलिस रिमांड मंजूर करने की अर्जी लगाई गई थी, जिस पर आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई हुई। अदालत ने अर्जी पर सुनवाई करते हुए दोनों आरोपियों को सात दिन के रिमांड पर भेज दिया।

जांच के दौरान पता चला कि डासना मंदिर के पुजारी पर हमले की साजिश रचने वाले काशिफ और रमजान का संबंध विजय नगर के सेक्टर 12 निवासी सलीमुद्दीन से है। वह विपुल विजयवर्गीय के गुरु हैं। जिन्होंने अपने साले काशिफ के साथ मंदिर परिसर में एंट्री की थी। 2015 में सलीमुद्दीन ने विपुल का धर्म परिवर्तन किया और उसे रमजान नाम दिया। 2019 में रमजान ने काशिफ की बहन से शादी कर ली। काशीपुर रमजान से पूछताछ के दौरान उसका नाम सामने आने के बाद पुलिस ने सलीमुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया है। सलीमुद्दीन का संबंध उमर गौतम से भी है। अब दोनों से पूछताछ की जा रही है।

और पढ़ें
Next Story