Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Good News: मोदी सरकार का किसानों को तोहफा, मसूर और सरसों के MSP में की इतने रुपये की बढ़ोतरी, पीएम ने किया ट्वीट

नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi government) ने मार्किट सीजन 2022-23 (marketing season 2022-23) के लिए रबी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) तय कर दिए हैं। इसको लेकर पीएम मोदी ने ट्वीट कर और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पीसी कर जानकारी दी।

Good News: मोदी सरकार का किसानों को तोहफा, मसूर और सरसों के MSP में की इतने रुपये की बढ़ोतरी, पीएम ने किया ट्वीट
X

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi government) ने मार्किट सीजन 2022-23 (marketing season 2022-23) के लिए रबी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) तय कर दिए हैं। बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट (central cabinet) की बैठक में मंजूरी मिलने के बाद फसलों की नई दरें जारी कर दी गईं।


सरकार ने आरएमएस 2022-23 के लिए रबी फसलों के एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) में वृद्धि की है। इसके अनुसार, गेहूं के एमएसपी में 40 रुपये, चने के एमएसपी में 130 रुपये और सरसों के एमएसपी में 400 रुपये की बढ़ोतरी हुई है। ताकि किसानों को उनके उत्पादों का लाभकारी मूल्य मिल सके। एमएसपी नीति का कृषि कानूनों से कोई लेना-देना नहीं। इसको सरकार ने पहले ही साफ कर दिया है।


जानकारी के लिए बता दें कि पिछले साल के एमएसपी में दाल और कैनोला (रेपसीड) और सरसों में उच्चतम समग्र बढ़ोतरी की सिफारिश की गई थी। जिसमें प्रत्येक में 400 रुपये प्रति क्विंटल की मांग की गई। इसके बाद चने पर 130 रुपये प्रति क्विंटल की सिफारिश की गई। कुसुम के फूल की कीमत में पिछले साल की तुलना में 114 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी हो रही है।

सरकार ने कहा कि कीमतों में यह अंतर इसलिए रखा गया है, ताकि विभिन्न फसलों को बोने के लिए प्रोत्साहन मिले। पीसी के दौरान केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और अनुराग ठाकुर ने रबी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि गेहूं के समर्थन मूल्य में 40 रुपये, जौ के एमएसपी में 35 रुपये, चना के 130 रुपये, मसूर और सरसों के 400 रुपये और सूरजमुखी के समर्थन मूल्य में 114 रुपये की बढ़ोतरी का फैसला कैबिनेट में किया गया।


नरेंद्र सिंह तोमर ने दी जानकारी

अभी हाल ही में सरकार ने राष्ट्रीय खाद्य तेल-पाम ऑयल मिशन (NMEO-OP) योजना की भी घोषणा की थी। इस योजना से खाद्य तेलों का घरेलू उत्पादन बढ़ेगा और आयात पर निर्भरता कम होगी। इस योजना के लिए 11,040 करोड़ रुपये जारी किए गए थे। इससे रोजगार के अवसर पैदा होंगे। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भी पीसी कर जानकारी दी कि कुछ लोग यह गलत सूचना फैलाने की कोशिश कर रहे हैं कि एमएसपी (मिनिमम सपोर्ट प्राइस) बंद कर दिया जाएगा। इसके विपरीत कृषि कानूनों के लागू होने के बाद एमएसपी पर फसलों की खरीद और एमएसपी की दर लगातार बढ़ रही है। रबी सीजन के लिए 6 फसलों पर एमएसपी आज तय हुई है। यह गेहूं, सरसों के लिए 2,015 रुपये और 5050 रुपये के लिए क्रमशः 100 फीसदी की वृद्धि हुई है। जौ के लिए यह बढ़कर 1635 रुपये हो गया है। चना के लिए 5230 क्विंटल और मसूर दाल के लिए 5500 रुपये की बढ़ोती हुई है।

Next Story