Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haribhoomi-Inh Exclusive: जब प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी ने पूछा - क्या मुस्लिम युवती के हिंदू लड़के से शादी करने पर भी लागू होगा लव जिहाद कानून, देखें पूरी चर्चा

प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी के साथ 'लव जिहाद' या सियासी विवाद? चर्चा में मध्यप्रदेश के मंत्री डॉ मोहन यादव, कांग्रेस के पूर्व सांसद रामेश्वर नीखरा, सुप्रीम कोर्ट के वकील एहतेशाम हाशमी और इस्लामिक स्टडीज से जुड़े अतीक उर्रहमान शामिल हुए।

Haribhoomi-Inh Exclusive: जब प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी ने पूछा - क्या मुस्लिम युवती के हिंदू लड़के से शादी करने पर भी लागू होगा लव जिहाद कानून, देखें पूरी चर्चा
X

प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी

Haribhoomi-Inh Exclusive: फरीदाबाद में निकिता तोमर की हत्या से एक बार फिर लव जिहाद का मामला सुर्खियों में आ गया है। बता दें कि लव जिहाद शब्द 2009 में पहली बार सामने आया था। लेकिन निकिता तोमर की हत्या के बाद अब उत्तरप्रदेश और हरियाणा में सरकार ने लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने का फैसला कर लिया है। वहीं इसी राह पर चलते हुए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी लव जिहाद को लेकर जल्दी ही सख्त कानून बनाने का निर्णय लिया है। लेकिन इसके बावजूद देश में लव जिहाद के मामले घटते हुए नजर नहीं आ रहे। इसी बीच सवाल ये उठ रहा है कि अगर कोई मुस्लिम युवती हिंदू लड़के से शादी करती है। तो क्या इस मामले में भी लव जिहाद कानून लागू होगा?

इसी सवाल के साथ प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी ने 'लव जिहाद' या सियासी विवाद? चर्चा की शुरूआत की। बता दें कि इस चर्चा में उनके साथ मध्यप्रदेश के मंत्री डॉ मोहन यादव, कांग्रेस के पूर्व सांसद रामेश्वर नीखरा, सुप्रीम कोर्ट के वकील एहतेशाम हाशमी और इस्लामिक स्टडीज से जुड़े अतीक उर्रहमान शामिल हुए।

क्या हिंदू धर्म की परंपराएं इतनी संकट में है कि सरकार को ऐसे बयान देने पड़े

शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में बयान दिया कि लव जिहाद के लिए वो सख्त कानून लाने वाले हैं। ऐसे में इस चर्चा के दौरान प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी ने पूछा कि क्या ये कोई सियासी रणनीति है या हिंदू धर्म वाकई इतने संकट में है कि सरकार को ऐसे फैसले लेने के लिए मजबूर होना पड़ा? इसके अलावा प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी ने ये भी सवाल किया कि इसके लिए केवल ये राज्य ही क्यों बेचैन हो रहे हैं? क्या देश में लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने की जरूरत महसूस नहीं हो रही?

इस सवाल के जवाब में मध्यप्रदेश के मंत्री डॉ मोहन यादव ने अपने विचार रखे। लेकिन उनके जवाब सवाल के अनुरूप नहीं दिखे। ऐसे में प्रधान संपादक महोदय ने सभी नेताओं के बयान भी सुनाए जिन्होंने लव जिहाद के खिलाफ अपने विचार साझा किए थे।

बयानबाजी मुसलमानों के खिलाफ?

इस दौरान प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी ने पूछा कि क्या ये सारी बयानबाजी केवल मुसलमानों को बदनाम करने के लिए है या सच में ऐसे कानून की जरूरत महसूस होने लगी है? बता दें कि असदुद्दीन ओवैसी ने अपने बयान में कहा था कि ये सारी साजिश केवल मुसलमानों को बदनाम करने के लिए की जा रही है। इस सवाल का जवाब सुनने के लिए नीचे दिए गए वीडियो को जरूर देखें।


Next Story