Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

निर्भया फैसले के बाद गांधी नगर में 5 साल की बच्ची से गैंगरेप केस में आज आएगा फैसला, जानें क्या था पूरा मामला

पूर्वी दिल्ली के गांधी नगर में एक 5 साल की बच्ची से गैंगरेप की वारदात के 6 साल बाद आज दिल्ली हाईकोर्ट में फैसला सुनाया जा सकता है।

दिल्ली हिंसा : हाई कोर्ट ने आधीरात में की सुनवायी, पुलिस को दिए ये निर्देशदिल्ली उच्च न्यायालय (फाइल फोटो)

दिल्ली में साल 2012 में हुए निर्भया गैंगरेप मामले के एक साल बाद ही पूर्वी दिल्ली के गांधी नगर में एक 5 साल की बच्ची से गैंगरेप की वारदात ने सभी को हिलाकर रख दिया था। इस मामले पर आज दिल्ली कोर्ट में फैसला सुनाया जाएगा।

इस फैसले की सुनवाई अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश नरेश कुमार मल्होत्रा करेंगे। बीते ने बुधवार को फैसले को स्थगित कर दिया था, जिसके बारे में निर्णय आज दिया जा सकता है।

इस मामले पक्षकार वकील ने कहा कि निर्भया मामले में एक ट्रायल कोर्ट ने दोषी ठहराया था और 10 महीने की अवधि में चार दोषियों को मौत की सजा सुनाई थी। साल 2013 के सामूहिक बलात्कार मामले में मुकदमे को पूरा करने में छह साल और सात न्यायाधीश और 57 अभियोजन पक्ष के गवाहों को लिया गया।

पोक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई

पांच साल की बच्ची से गैंगरेप मामले में दिल्ली पुलिस ने 24 मई 2013 को दोनों आरोपियों- मनोज शाह और प्रदीप कुमार के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था और 11 जुलाई को अदालत ने उनके खिलाफ आरोप तय किए थे। इन सभी के खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।

दोनों आरोपियों को बिहार से किया था गिरफ्तार

इस ममले में दो आरोपी मनोज शाह और प्रदीप कुमार को मुजफ्फरपुर और बिहार के दरभंगा से दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। अपराध करने के बाद दोनों बिहार भाग गए थे। फिलहाल, दोनों अभी जेल में बंद हैं। बच्चे को 40 घंटे बाद 17 अप्रैल 2013 को बचाया गया था।

दिल्ली हाईकोर्ट में पहुंचा मामला

पुलिस ने दोनों आरोपियों पर नाबालिग के साथ बलात्कार, अप्राकृतिक अपराध, अपहरण, हत्या का प्रयास, सबूतों को नष्ट करने और आम इरादे के साथ गलत तरीके से बंद करके का आरोप लगाया था। इसके बाद, बलात्कार पीड़िता की मां ने प्रदीप को किशोर घोषित करने के ट्रायल कोर्ट के आदेश के खिलाफ दिल्ली उच्च न्यायालय का रुख किया। जहां ये मामला चल रहा है।

Next Story
Top