Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अशोक सिंघल ने असम CM और पुलिस अधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज़ करने पर दी प्रतिक्रिया, बोले- नासमझी है, नादानी है..

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि बचपना है, नासमझी है, नादानी है... मिज़ोरम की सरकार से आग्रह है कि भारत के संविधान के अंदर रहकर काम करें।

अशोक सिंघल ने असम CM और पुलिस अधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज़ करने पर दी प्रतिक्रिया, बोले- नासमझी है, नादानी है..
X

असम सरकार में मंत्री अशोक सिंघल ने मिज़ोरम पुलिस के द्वारा मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज़ करने पर प्रतिक्रिया दी है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि बचपना है, नासमझी है, नादानी है... मिज़ोरम की सरकार से आग्रह है कि भारत के संविधान के अंदर रहकर काम करें।

उन्होंने आगे कहा कि हमें बातचीत से समाधान निकालना चाहिए। बंदूक से समाधान नहीं निकलेगा, FIR से समाधान नहीं निकलेगा। इससे आगे बातचीत का रास्ता बंद हो जाएगा, इससे 2 राज्यों के बीच रिश्ते ख़राब होंगे।

असम सीएम और 4 अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

मिजोरम पुलिस ने असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा, राज्य पुलिस के 4 वरिष्ठ अधिकारियों और 2 अन्य अधिकारियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किए हैं। मिजोरम पुलिस के द्वारा आपराधिक मामला कोलासिब जिले के वैरेंगते नगर के बाहरी हिस्से में हुई हिंसा के मामले में दर्ज किया है। इस बात की जानकारी शुक्रवार को पुलिस के द्वारा दी गयी है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मिजोरम के पुलिस महानिरीक्षक (मुख्यालय) जॉन एन ने कहा है इन लोगों के खिलाफ हत्या की कोशिश और आपराधिक साजिश समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि सीमांत नगर के निकट मिजोरम और असम पुलिस बल के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद सोमवार देर रात को राज्य पुलिस द्वारा वैरेंगते थाने में एफआईआर दर्ज की गई थी। असम पुलिस के 200 अज्ञात कर्मियों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

अधिकारियों ने बताया कि उधर, असम पुलिस ने कोलासिब जिले के पुलिस अधीक्षक और उपायुक्त समेत मिजोरम सरकार के 6 अधिकारियों को धोलाई पुलिस थाने में सोमवार को पेश होने के लिए समन किया है। सूत्रों के मुताबिक, बीते शुक्रवार को इन अधिकारियों को 28 जुलाई को समन जारी किये गये थे।

Next Story