Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लोकसभा में दिल्ली हिंसा पर अमित शाह बोले दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा, पुलिस ने 36 घंटे के भीतर रोका दंगा

दिल्ली पुलिस क्या कर रही थी, इस बारे में सवाल पूछे गए हैं। हिंसा के वक्त पुलिस वहां पर मौजूद थी, पुलिस जांच करेगी और आने वाले दिनों में एक रिपोर्ट देगी।

लोकसभा में दिल्ली हिंसा पर अमित शाह बोले दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा, पुलिस ने 36 घंटे के भीतर रोका दंगा

लोकसभा में आज दिल्ली हिंसा पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने विपक्ष के सावलों का जवाब दिया और हिंसा पर चर्चा की। लोकसभा में अमित शाह ने कहा कि मैं उन सभी को लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं जिन्होंने दिल्ली में हुए दंगों में अपनी जान गंवाई। मैं उनके परिवार के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं।

25 फरवरी के बाद कोई घटना नहीं हुई

अमित शाह ने दिल्ली हिंसा पर चर्चा के दौरान कहा कि मैं रिकॉर्ड पर जगह देना चाहूंगा कि 25 फरवरी के बाद दिल्ली में दंगे की कोई घटना नहीं हुई है। इन दंगों का राजनीतिकरण करने की कोशिश की गई है।

पुलिस ने 36 घंटों के भीतर दंगा रोका

दिल्ली पुलिस क्या कर रही थी, इस बारे में सवाल पूछे गए हैं। हिंसा के वक्त पुलिस वहां पर मौजूद थी, पुलिस जांच करेगी और आने वाले दिनों में एक रिपोर्ट देगी। मैं दिल्ली पुलिस की प्रशंसा करना चाहूंगा क्योंकि पुलिस ने दंगों को अन्य क्षेत्रों में फैलने नहीं दिया। पुलिस ने 36 घंटे के भीतर दंगे का रोक दिया था।

दिल्ली में मैं किसी भी कार्यक्रम में मौजूद नहीं था

अमित शाह ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति का कार्यक्रम पहले से ही निर्धारित था, यह मेरे निर्वाचन क्षेत्र में था, मेरी यात्रा भी पहले से ही निर्धारित थी। अगले दिन, जब अमेरिकी राष्ट्रपति ने दिल्ली का दौरा किया, मैं किसी भी कार्यक्रम में मौजूद नहीं था। पूरे समय, मैंने पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। मैंने एनएसए से हिंसा क्षेत्र का दौरा करने का अनुरोध किया था।

अमित शाह ने बताया किस लिए नहीं किया हिंसा क्षेत्रों का दौरा

मैं खुद वहां नहीं गया, क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि पुलिस मेरी सुरक्षा व्यवस्था के लिए संसाधनों को डायवर्ट करे। 27 फरवरी से आज तक, लगभग 700 एफआईआर दर्ज की गई हैं। दंगों के जिम्मेदार लोगों का बख्शा नहीं जाएगा। दोषियों को पकड़ने के लिए 40 टीमें गठित की गई हैं।

हिंसा से जुड़े हर पहलू की हो रही जांच

हिंसा के किसी भी दोषी को सरकार नहीं बख्शेगी। अमित शाह ने आगे कहा कि पुख्ता सबूत होने पर ही किसी की भी गिरफ्तारी की जाएगी। दिल्ली हिंसा से जुड़े हर पहलू की जांच की जा रही है। हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि किसी भी निर्दोष व्यक्ति के खिलाफ कोई कार्रवाई न की जाए। आर्म्स एक्ट के 49 मामले दर्ज किए गए हैं और 153 हथियार बरामद किए गए हैं। 25 फरवरी से शांति समिति की 650 से अधिक बैठकें हुई हैं।

अमित शाह ने सीएए पर भी दिया बड़ा बयान

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर को लेकर अमित शाह ने कहा कि जवाब देना मेरी संवैधानिक जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि एक बड़ी पार्टी की रैली हुई, घर के बाहर निकलो, ये आर पार की लड़ाई है। ये हेट स्पीच नहीं लगती आपको? सीएए को लेकर मुसलमानों को गुमराह किया जा रहा है। सीएए से किसी भी भारतीय की नागरिकता नहीं जा रही है।

Next Story
Top