Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बेंगलुरु के 'नन्हे उस्ताद' हंसते-खेलते दे रहे कोरोना को मात, चार दिन में 450 बच्चे संक्रमित मिलने पर सरकार ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग

Covid Third Wave : सीएम बसवराज बोम्मई ने कहा है कि कोविड की तीसरी लहर का सबसे ज्यादा असर बच्चों पर पड़ने की आशंका व्यक्त की गई है। ऐसे में सरकार बच्चों को इस महामारी से बचाने के लिए सभी उपाय सुनिश्चित करेगी।

बेंगलुरु के नन्हे उस्ताद हंसते-खेलते दे रहे कोरोना को मात, चार दिन में 450 बच्चे संक्रमित मिलने पर सरकार ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग
X

कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई ने कोविड की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए इमरजेंसी बैठक बुलाई है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

देश में कोविड की तीसरी लहर आने की आशंकाओं के बीच कर्नाटक के बेंगलुरु में 450 बच्चे कोरोना संक्रमित मिलने से हड़कंप मचा है। प्रदेश के सीएम बसवराज बोम्मई ने विशेषज्ञों के साथ आपात बैठक बुलाई है। उधर, वृहत बेंगलुरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) का दावा है कि पिछले चार दिन के भीतर बच्चों में कोरोना के 100 मामले कम हुए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सीएम बसवराज बोम्मई ने कहा है कि कोविड की तीसरी लहर का सबसे ज्यादा असर बच्चों पर पड़ने की आशंका विशेषज्ञों की ओर से व्यक्त की गई है। बच्चे अभी तक कोविड टीकाकरण से वंचित हैं। ऐसे में राज्य सरकार ने उडुपी और हावेरी जिलों में वात्सल्य योजना शुरू की है, जो कि महामारी के दौरान बच्चों की सेहत की निगरानी रखेगी। साथ ही बाल चिकित्सा स्वास्थ्य शिविर भी लगाए जाएंगे। बच्चों में पोषण की कमी न हो, इसके लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

सीएम ने कहा कि बच्चों को महामारी से बचाने के लिए बाल चिकित्सा आईसीयू की व्यवस्था भी कराई जा रही है। इसके साथ-साथ कोविड की तीसरी लहर से निपटने के लिए संबंधित अधिकारियों को प्रशिक्षित भी किया जा रहा है।

बेंगलुरु में अब तक 543 बच्चे संक्रमित

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बेंगलुरु में 1 से 11 अगस्त के बीच 543 बच्चे कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। वृहत बेंगलुरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) के हवाले से बताया गया है कि 0 से 9 साल के 33 बच्चों और 10 से 19 साल की आयु वर्ग के 210 बच्चों को कोरोना संक्रमण हुआ। हालांकि बच्चे बेहद तेसी से रिकवर भी कर रहे हैं।

हालांकि बीबीएमपी के मुख्य आयुक्त गौरव गुप्ता का कहना है कि शहर में अब तक रिपोर्ट किए गए बच्चों के मामलों की तुलना पिछले साल के आंकड़ों से की गई है। दोनों की संख्या लगभग समान हैं। पिछले चार दिनों में कुल मामलों की संख्या 450 (15 दिनों में प्रचलित) से घटकर 350 हो गई है।


Next Story