Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

26/11 मुंबई हमले की 12वीं बरसी आज, जानिए कब और कैसे क्या हुआ था हमला

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मुंबई 26/11 आतंकी हमलों में जान गंवाने वाले सभी लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ और इन हमलों में आतंकियों का डटकर सामना करने वाले वीर सुरक्षाकर्मियों को कोटि-कोटि नमन। यह राष्ट्र आपकी वीरता और बलिदान के प्रति सदैव कृतज्ञ रहेगा।

26/11 मुंबई हमले की 12वीं बरसी आज, जानिए कब और कैसे क्या हुआ था हमला
X

मुंबई आतंकी हमला

मुंबई 26/11 हमले में मारे गए लोगों को आज 12 बीत गए हैं। ऐसी तारीख जो भारतीय जवानों की बहादुरी के लिए तो जानी जाएगी लेकिन उससे ज्यादा उस बदनामी और कमियों के लिए जो उस समय हुई। कमजोर सूचना, कमजोर सामंजस्य, कमजोर परिवहन, आपसी तालमेल में कमी, मीडिया के जरिए खबरों के बाहर आने से आतंकियों को सूचना मिलना... और न जाने क्या-क्या? ऐसी कई कमियां थीं देश में क्योंकि भारत ने इससे बड़ा आतंकी हमला नहीं देखा था। लेकिन आज भारत पूरी तरह से तैयार है। इसके पास अंतरिक्ष की निगाहें हैं, सुरक्षा है, संचार है। कुल मिलाकर कहें तो भारत आतंकियों से लड़ने और मुंहतोड़ जवाब देने के लिए सक्षम है।

26/11 के तुरंत बाद मैरीटाइम एजेंसीज और पुलिस को अतिरिक्त आजादी और जिम्मेदारी दी गई। उन्हें खुद से जहाज, एयरक्राफ्ट और बोट्स खरीदने की अनुमति दी गई। कोस्टल रडार्स लगाए गए। तटों के किनारे और बंदरगाहों पर ऑटोमैटिक आइडेंटिफिकेशन सिस्टम लगाया गया। नेशनल कमांड कंट्रोल एंड कम्यूनिकेशन नेटवर्क या , ज्वाइंट ऑपरेशंस सेंटर्स, इन्फॉरमेशन फ्यूजन सेंटर बनाया गया। कोस्टल पुलिस का गठन किया गया। ताकि सभी प्रदेशों में मछुआरों की जहाजों और नावों पर नजर रखी जा सके। वहीं इस हमले में शहीद हुए जवानों को और साथ ही हमले मेें मारे गए लोगों को नेताओं ने श्रद्धांजलि दी है।

मुंबई के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राज्य गृहमंत्री अनिल देशमुख ने 26/11 की 12वीं बरसी पर आतंकवादी हमले में जान गंवाने वाले सभी लोगों को श्रद्धांजलि दी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मुंबई 26/11 आतंकी हमलों में जान गंवाने वाले सभी लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ और इन हमलों में आतंकियों का डटकर सामना करने वाले वीर सुरक्षाकर्मियों को कोटि-कोटि नमन। यह राष्ट्र आपकी वीरता और बलिदान के प्रति सदैव कृतज्ञ रहेगा।

26/11 मुंबई हमले के गुनहगारों के लिए पाकिस्तान में प्रार्थना सभा

मुंबई में 12 साल पहले एक हमला हुआ था जिसे शायद ही कोई भुला सकता है। 26 नवंबर 2008 को लश्कर के 10 आतंकवादियों ने मायानगरी में क्रूर हमले को अंजाम दिया था, जिसमें करीब करीब 170 लोग मारे गए थे। आज उसी मुंबई अटैक की 12वीं बरसी है और पाकिस्तान में हाफिज सईद कसाब समेत मारे गए दसों आतंकियों के लिए प्रार्थना सभा करवा रहा है। पाक स्थित लश्कर-ए-तैयबा के राजनीतिक मोर्चा जमात-उद-दावा, जिसका मुखिया आतंकी हाफिज सईद है, ने गुरुवार को पाकिस्तान स्थित पंजाब के साहिवाल शहर में एक प्रार्थना सभा कार्यक्रम की योजना बनाई है। इस कार्यक्रम में हाफिज सईद की पार्टी मुंबई आतंकी हमले के गुनहगारों यानी 10 आतंकियों के लिए प्रार्थना सभा आयोजित करवाएगी।

Next Story