Logo
election banner
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले मालदीव के तीन मंत्रियों को सस्पेंड कर दिया गया है। विवाद के बाद भारतीयों ने बड़े पैमाने पर मालदीव के टिकट कैंसल कराने शुरू कर दिए हैं।#BoycottMaldives सोशल मीडिया पर ट्रेंडिंग में है।

Maldives Suspended 3 Minister: मालदीव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी पर टिप्पणी करने वाले तीन मंत्रियों को सस्पेंड कर दिया है। इन मंत्रियों में मरियम शिउना, मालशा और हसन जिहान शामिल हैं। इस बीच भारतीयों ने बड़े पैमाने पर मालदीव की टिकट कैंसल कराने शुरू कर दिए हैं। सोशल मीडिया पर मालदीव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इसकी वजह से रविवार की शाम तक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर #BoycottMaldives ट्रेंड करने लगा। 

मालदीव सरकार ने जारी किया बयान
मालदीव के विदेश मंत्रालय ने पड़ोसी देश भारत के बारे में अपमानजनक टिप्पणी को लेकर बयान जारी किया। मालदीव सरकार ने कहा कि जिन लोगों ने भी सरकारी पद पर रहते हुए आपत्तिजनक टिप्पणी की है, उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है। हालांकि मालदीव ने सस्पेंड किए गए लोगों की जानकारी नहीं दी। इसके कुछ ही समय बाद मालदीव के लोकल मीडिया समेत इंटरनेशनल मीडिया में मालदीव के तीनों सस्पेंड मंत्रियों के नामों का भी खुलासा हो गया। 

Maldives suspended 3 Minister
मालदीव ने अपने तीन मंत्रियों  मरियम शिउना, मालशा और हसन जिहान को सस्पेंड कर दिया है।

मालदीव ने मंत्रियों के बयानों से झाड़ा पल्ला
इससे पहले जब मामले को लेकर इंटरनेट पर विवाद शुरू हुआ तो मालदीव सरकार ने अपना रुख स्पष्ट कर दिया। मालदीव गवनर्मेंट ने साफ तौर पर कहा कि इन विवादित टिप्पणियों को मालदीव सरकार से न जोड़ा जाए। जिन लोगों ने भी विदेशी नेताओं और बड़ी शख्सियतों के बारे में टिप्पणियां की है, ये उनके निजी विचार हैं। हम अभिव्यक्ति की आजादी में विश्वास रखते हैं। हालांकि, टिप्पणियां जिम्मेदारी से की जानी चाहिए। ऐसे बयान नहीं दिए जाएं जिसस मालदीव के इंटरनेशनल रिलेशन को नुकसान पहुंचे। 

खुले में शौच वाले फोटो पोस्ट कर पीएम को किया था टैग
मालदीव के मंत्री इस बात से बौखलाए हुए थे कि PM Modi ने हाल ही में अपने लक्षद्वीप दौरे के दौरान वहां की खूबसूरती दिखाने की कोशिश की। इस पर चिढ़ते हुए एक एक कर तीन मंत्रियों ने आपत्तिजनक टिप्पणियां की। एक ने कहा कि भारत अभी Beach Tourism के सेक्टर में मालदीव का मुकाबला नहीं कर सकता। वहीं दूसरे मंत्रियों ने खुले में शौच दिखाने वाले फोटो पोस्ट किए और भारत के लिए अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया।

कैसे हुई विवाद की शुरुआत?
प्रधानमंत्री नरेंद्र  मोदी ने अपने लक्ष्यद्वीप दौरे के अनुभव को एक्स पर साझा किया था।  इसमें पीएम ने लिखा था,  ‘'जो लोग रोमांचकारी अनुभव लेना चाहते हैं, लक्षद्वीप उनकी सूची में जरूर होना चाहिए।  मैंने स्नॉर्कलिंग की भी कोशिश की। यह बहुत खुशनुमा और उत्साहजनक अनुभव था!'' पीएम मोदी का ये पोस्ट काफी वायरल हुआ था और कई सोशल मीडिया यूजर्स ने लक्षद्वीप को मालदीव का वैकल्पिक पर्यटन स्थल कहने लगे।  इसके बाद से मालदीव सरकार के नेताओं की ओर से आपत्तिजनक टिप्पणियां आनी शुरू हो गईं। 

आम लोगों से फिल्मी सितारों तक ने किया विरोध
मालदीव के मंत्रियों की विवादित टिप्पणियां सामने आने के बाद भारतीय लोग सक्रिय हो गए। एक दूसरे से मालदीव का बहिष्कार करने की अपील करने लगे। कई फिल्म स्टार और क्रिकेटरों ने ट्वीट कर कड़े शब्दों में बयान की निंदा की है। फिल्म स्टार अक्षय कुमार ने एक्स पर लिखा है कि मालदीव की प्रमुख हस्तियों द्वारा भारतीयों पर घृणित और नस्लवादी टिप्पणियां की गई हैं।  हैरानी की बात है कि वे ऐसा उस देश के लिए कर रहे हैं, जो उन्हें सबसे अधिक संख्या में पर्यटक भेजता है।  हम अपने पड़ोसियों के प्रति अच्छे हैं, लेकिन हमें ऐसी अकारण नफरत क्यों बर्दाश्त करनी चाहिए? मैं खुद कई बार मालदीव का दौरा किया है और हमेशा इसकी प्रशंसा की है, लेकिन गरिमा पहले है।  आइए हम भारतीय द्वीपों खोजे और अपने देश के पर्यटन को बढ़ावा दें। इसके साथ ही क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और आकाश चोपड़ा ने भी लोगों से मालदीव के टिकट कैंसल कराने की अपील की। 

मालदीव के दो पूर्व राष्ट्रपतियों ने की टिप्पणियों की निंदा
मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह भारत के लिए इस्तेमाल की गई नफरत भरी टिप्पणियों की आलोचना की। सोलिह ने कहा कि भारत हमेशा से मालदीव का अच्छा दोस्त रहा है। हमें भारत के लिए ऐसी टिप्पणियों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इससे दोनों देशों के बीच सैंकड़ों साल पुरानी दोस्ती पर निगेटिव असर होगा। मालदीव के एक अन्य पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने भी अपने देश के नेताओं की टिप्पणियों की निंदा की। नशीद ने कहा कि भारत मालदीव की सुरक्षा और समृद्धि में अहम सहयोगी है। ऐसे देश के बारे में अपमानजनक टिप्पणियां नहीं की जानी चाहिए। 

5379487