Logo
How to Make Milk Lassi: गर्मी में एसिडिटी खूब बनती है तो दूध की लस्सी बनाकर पीना फायदेमंद होता है। इसे 5 मिनट में तैयार किया जा सकता है और ये पेट के लिए बेहद गुणकारी होती है।

How to Make Milk Lassi: गर्मी के तेवर लगातार तीखे होते जा रहे हैं, इसके चलते कई लोगों को एसिडिटी की समस्या बढ़ने लगती है। दूध की लस्सी एसिडिटी की परेशानी को दूर करने में बेहद असरदार होती है। समर सीजन में शरीर को ठंडा रखने के लिए लोग अलग-अलग तरह के उपाय करते हैं।

इन दिनों में देसी हेल्थ ड्रिंक के तौर पर दूध की लस्सी एक परफेक्ट रेसिपी है। ये न सिर्फ एसिडिटी को दूर करने का काम करती है, बल्कि शरीर को ठंडा रखने के साथ बॉडी को हाइड्रेट भी करती है। 

बहुत से लोगों को दही की लस्सी पीने से इसे पचाने में दिक्कत होती है, ऐसे लोग गर्मी में अपनी डाइट में दूध की लस्सी को शामिल कर सकते हैं। 5 मिनट में तैयार होने वाली दूध की लस्सी बनाना भी बहुत सरल है। 

दूध की लस्सी बनाने के लिए सामग्री
दूध - 1/2 लीटर
इलायची पाउडर - 1 टी स्पून
रूह अफज़ा शरबत (वैकल्पिक) - 2 टी स्पून
चीनी - 5 टी स्पून
आइस क्यूब्स - 5-6

दूध की लस्सी बनाने की विधि
गर्मी के दिनों में दूध की लस्सी बनाकर पीना खूब पसंद किया जाता है। इसे तैयार करना बहुत सरल है और 5 मिनट में ये लस्सी बनकर तैयार भी हो जाती है। दूध की लस्सी के लिए कच्चे दूध का इस्तेमाल अच्छा रहता है, हालांकि दूध पकाने के बाद उसे ठंडा करके भी यूज कर सकते हैं। सबसे पहले एक बर्तन में दूध को डालें और फिर मथनी की सहायता से 2 मिनट तक दूध को अच्छी तरह से फेटें। 

इसे भी पढ़ें: Aam ki Chutney Recipe: कच्चे आम की चटनी नहीं बढ़ने देगी शरीर की गर्मी, इस तरह बनाकर खाएंगे तो रहेंगे एकदम फिट

इसके बाद दूध में जरूरत के मुताबिक पानी और स्वाद के अनुसार चीनी को डाल दें। इसके बाद एक से दो मिनट तक दूध की लस्सी को और मथें। इसके बाद लस्सी वाले बर्तन में 4-5 बर्फ के टुकड़े डाल दें और लस्सी को ठंडी होने के लिए छोड़ दें। दूध की लस्सी बनकर तैयार हो चुकी है। इसे गिलास में डालकर सर्व करें। आप चाहें तो लस्सी में फ्लेवर के लिए उसमें दो चम्मच रुह अफज़ा भी मिला सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: Gujarati Khakhra Recipe: गेहूं से बना खाखरा खाएंगे तो बार-बार मांगेंगे, स्वाद से भरपूर, बनाना है आसान

दूध लस्सी पीने के फायदे

  • पाचन स्वास्थ्य में सुधार होता है।
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ती है।
  • हड्डियों को मजबूत बनाती है।
  • वजन घटाने में मदद करती है।
  • त्वचा और बालों को स्वस्थ रखती है।
  • तनाव कम करती है।

(Disclaimer: इस आर्टिकल में दी गई सामग्री सिर्फ जानकारी के लिए है। हरिभूमि इनकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी सलाह या सुझाव को अमल में लेने से पहले किसी विशेषज्ञ, डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।)

jindal steel Ad
5379487