Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

देर रात तक नींद ना आना है बीमारी का संकेत, अच्छी नींद के लिए अपनाएं ये थैरेपी

हम सभी को बेहतर लाइफ के लिए डेली 7 से 8 घंटे की भरपूर और अच्छी नींद जरूरी है। नींद हमारी अच्छी सेहत के लिए बहुत जरूरी है। लेकिन अगर किसी वजह से आप अनिद्रा से ग्रस्त हैं तो कुछ नेचुरल तरीकों को अपना सकते हैं।

देर रात तक नींद ना आना है बीमारी का संकेत, अच्छी नींद के लिए अपनाएं ये थैरेपी

हम सभी को बेहतर लाइफ के लिए डेली 7 से 8 घंटे की भरपूर और अच्छी नींद जरूरी है। नींद हमारी अच्छी सेहत के लिए बहुत जरूरी है। लेकिन अगर किसी वजह से आप अनिद्रा से ग्रस्त हैं तो कुछ नेचुरल तरीकों को अपना सकते हैं। इस बारे में चेस एरोमाथैरेपी कॉस्मेटिक्स के फाउंडर डॉ. नरेश अरोड़ा पूरी जानकारी थे रहे हैं।

आजकल लोगों की जीवनशैली इतनी अस्त-व्यस्त है कि खाने और सोने का कोई समय निर्धारित नहीं रह गया है। बायोल‚जिकल क्ल‚क डिस्टर्ब होने के कारण कई लोगों को सोने में परेशानी हो रही है।

आप सोना चाहते हैं, लेकिन आपका दिमाग दूसरी दिशा में भटक रहा होता है। नींद न आने से मजबूर होकर आप अपने दोस्त से चैटिंग करने लगते हैं या फेसबुक देखने लगते हैं या यू ट्यूब पर कोई वीडियो देखने लगते हैं।

सोने की कोशिश करने की जगह आप सोशल मीडिया से जुड़ जाते हैं। ऐसा लंबे समय तक होने से आप अनिद्रा के रोगी बन जाते हैं। अनिद्रा कई तरह से मानसिक और शारीरिक सेहत को प्रभावित कर सकती है।

यह भी पढ़ें: सावधान! धूप से हो सकता है स्किन कैंसर, रखें इन बातों का ध्यान

एक अध्ययन के अनुसार अमेरिका में 30 से 40 फीसदी वयस्क नींद न आने की बीमारी से पीड़ित हैं, जबकि 10 से 15 फीसदी वयस्कों को यह रोग अपने परिवार से विरासत में मिलता है। भारत में भी एक करोड़ से ज्यादा लोग नींद न आने की समस्या से पीड़ित हैं।

कारण

भाग-दौड़ भरी जिंदगी, काम करने के लंबे घंटे और सोशल मीडिया से जुड़ाव के कारण नींद न आने की इस बीमारी में इजाफा हो रहा है। जरूरत से ज्यादा काम करने, जल्दबाजी में खाना खाने और जंक फूड पर ज्यादा निर्भरता से इस तरह की गड़बड़ियां पैदा होती हैं।

प्रमुख लक्षण

  • हम में से कई लोग यह नहीं जानते हैं कि हमारे दिमाग में एक सोने की और एक जागने की साइकिल मौजूद होती है।
  • अगर स्लीप साइकिल वर्किंग मोड में होती है तो वेक अप साइकिल अ‚फ रहता है क्योंकि यह तब प्रभावी होती है, जब स्लीप साइकिल काम करना बंद कर देती है।
  • इसलिए जब कोई अनिद्रा से ग्रस्त होता है तो उसके बायोल‚जिकल सिस्टम में दोनों साइकिल एक ही साइड पर काम करती हैं।
  • सेहत को नुकसान पहुंचाने वाली नींद न आने की यह आदत जीवन पर काफी गहरा प्रभाव डालती है।
  • इससे किसी भी व्यक्ति को सोने में काफी परेशानी होती है। जिससे उसकी एनर्जी में कमी आती है, उनका मन किसी एक जगह नहीं लगता।
  • मूड लगातार बदलता रहता है। इसके साथ ही उनकी परफ‚र्मेंस पर प्रभाव पड़ता है।
  • रोगी को तनाव महसूस होता है, मानसिक परेशानी महसूस करने लगते हैं। बहुत जल्दी गुस्सा आता है।
  • दिमाग ठीक ढंग से काम नहीं करता है।

यह भी पढ़ें: तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने से होते हैं ये कमाल के फायदे

कारगर उपाय

अगर किसी व्यक्ति को नींद न आने की समस्या 3 से 4 हफ्तों से ज्यादा समय तक रहती है तो उसे ड‚क्टर से संपर्क करना चाहिए। इस बीमारी को कुदरती इलाज से भी काफी हद तक ठीक किया जा सकता है।

सोने से पहले गर्म पानी से स्नान करें। यह एक एक्सरसाइज की तरह होगा। गर्म पानी से नहाने के बाद बेड पर जाते ही आपको नींद आ जाएगी।

दिन भर की कड़ी मेहनत के बाद आपको अपनी मांस-पेशियों को आराम देने और अच्छी नींद लेने के लिए अपने शरीर को कूल डाउन करने की जरूरत होती है। इसके लिए आप किसी टब या बाल्टी में गुनगुने पानी में अपने पैरों को डुबो कर रख सकते हैं।

अपने शरीर की मांस-पेशियों एवं ऊतकों को आराम देने के लिए आप एक चम्मच एप्सॉम साल्ट/डेड सी सॉल्ट को पानी में डाल सकते हैं। फूट बाथ आपकी त्वचा को अवांछित बैक्टीरिया से बचाती है और दिन भर की थकान से हुए पैर के दर्द को भी कम करती है।

उस गर्म पानी में आप कुछ आवश्यक तेल भी डाल सकते हैं, जिससे आपको रिलैक्स होने में मदद मिलती है। आप तुलसी ऑयल, देवदार वुड ऑयल, लैवेंडर ऑयल, रोजमैरी ऑयल और विंटर ग्रीन ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आपको केवल इन तेल की 1–2 बूंद पानी की बाल्टी में डालनी है। ये तेल शरीर के भीतरी भाग तक पहुंचकर रोम–रोम को सुकून देते हैं।

यह भी पढ़ें: एक टच में सेहत का सारा हाल बता देगा ये एप, जानें कैसे

गर्म पानी थके हुए शरीर पर जादू का काम करता है। अगर किसी के पास सोने जाने से पहले गर्म पानी से नहाने का समय नहीं है तो कुछ देर तेल मिले गुनगुने पानी में अपने पैर डालकर बैठ सकते हैं।

इस उपाय से स्किन हाईड्रेट हेती है, मांस-पेशियां ढीली पड़ती हैं। इससे रिलैक्स होने में मदद मिलती है, जिससे आपको बिस्तर पर लेटते ही नींद आ जाती है।

अनिद्रा से ग्रस्त लोगों के लिए लैवेंडर, जैस्मीन, नेरोली और यांग-लांग जैसे तेल से मालिश भी कारगर उपाय है।

Next Story
Top