Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लव जिहाद नहीं, लव कमांडो! जी हां, यह संगठन प्रेमी जोड़े को मिलाने का काम करता है

गैर सरकार संस्‍था लव कमांडो के सदस्‍य जरूरत पड़ने पर प्रेमी जोड़े को सुरक्षा मुहैया कराने के साथ-साथ उनके माता-पिता और परिजनों को समझाने की भी कोशिश करते हैं।

लव जिहाद नहीं, लव कमांडो! जी हां, यह संगठन प्रेमी जोड़े को मिलाने का काम करता है
X
नई दिल्‍ली. देश में जहां एक ओर इन दिनों लव जिहाद को लेकर सियासत हो रही है वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो प्रेम करने वालों को जोड़ने और उनकी मदद करने को हमेशा तत्‍पर रहते हैं। जी हां 'लव कमांडो' संस्‍था के सदस्‍य प्रेमी युगलों को मिलते हैं और भविष्‍य में वे साथ रह सकें इसलिए शादी भी करवाते हैं। गैर सरकार संस्‍था लव कमांडो के सदस्‍य जरूरत पड़ने पर प्रेमी जोड़े को सुरक्षा मुहैया कराने के साथ-साथ उनके माता-पिता और परिजनों से मुलाकात कर उन्‍हें शादी के लिए मनाने का काम भी करते हैं।
दिल्‍ली के पहाड़गंज से प्रेमी जोड़े को मदद देने वाली संस्‍था के अध्‍यक्ष संजय सचदेव का कहना है उनका संगठन 'लव कमांडो' चार साल पहले ही अस्तित्‍व में आया और इन चार सालों में संस्‍था ने 30 हजार प्रेमी जोडि़यों की शादी करवा दी है। उन्‍होंने कहा कि शादी की कानूनी उम्र होने पर वे प्रेमी जोड़ों की शादी करवा देते हैं और उन्‍हें हर संभव मदद देते हैं।
सचदेव दावा करते हैं कि जिन लोगों की हम मदद कर रहे हैं, उनमें से कई लोगों के खिलाफ पुलिस मामले दर्ज हैं और ऐसे कई समूह हैं, जो नहीं चाहते कि हम अपनी गतिविधियां जारी रखें। फंड की कमी के बावजूद प्रेम के लिए इस संगठन की लगातार लड़ाई जारी है। इसका एक शरण स्थल (शेल्टर होम) समूह के अस्थायी कार्यालय के रूप में काम करता है।
समूह ज्यादा चर्चा में आने से बचता है क्योंकि उसका मानना है कि अत्यधिक चर्चा के चलते भागकर आए प्रेमी नजरों में आ सकते हैं। उन्‍होंने कहा कि वे दिल्‍ली और एनसीआर के बाहर के प्रेमी जोड़ों के लिए शेल्टर होम की व्‍यवस्‍था करते हैं। उन्‍होंने बताया कि कई मामले ऐस भी आते हैं जिसमें ल‍ड़की के परिजनों द्वारा लड़के पर रेप केस का चार्ज भी लगाया गया होता है। ऐसे मामलों में काफी दिक्‍कत आती है।
अध्‍यक्ष सचदेव कहते है कि वे सराकरी तौर पर कोई मदद नहीं चाहते लेकिन सच यह भी है कि संगठन इकोनॉमी क्राइसेस से गुजर रहा है ऐसे में भोजन,पानी,ओर बिजली के दामों मे हो रही वृद्धि के कारण संगठन को काफी दिक्‍कत हो रही है। पैसों की दिक्‍कत के कारण कई बार स्थितियां मुश्किल हो जाती हैं। उन्‍होंने कहा कि वे जनता से सहयोग चा‍हते हैं। संगठन को प्रसिद्ध टेनिस खिलाड़ी ब्‍योर्न बोर्ग ने दो बार सहयोग के तौर पर दान दिया है।
नीचे की स्लाइड्स में जानिए, दो हेल्‍प लाइन समेत 12 शहरों में काम कर रहा है लव कमांडो -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को
फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story