Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जोड़ो के दर्द से ऐसे पाए राहत, बुढ़ापे में भी रहेंगे PAIN FREE

जोड़ों में दर्द-सूजन से ऐस पाए राहत।

जोड़ो के दर्द से ऐसे पाए राहत, बुढ़ापे में भी रहेंगे PAIN FREE

नई दिल्ली. आयुर्वेद में जोड़ों को संधि कहा जाता है। मानव शरीर भी कई प्रकार की छोटी-बड़ी संधियों से निर्मित है। इन संधियों यानी जोड़ों के माध्यम से ही इंसान के शरीर को गति और स्थिरता मिलती है। लेकिन जब किसी बीमारी या चोट के कारण जोड़ों को कोई क्षति पहुंचती है तो उससे वहां दर्द और सूजन की समस्या पैदा होने लगती है। असल में इस दर्द और सूजन की वजह जोड़ों में वात दोष का बढ़ना है। यह वात दोष ठंडी चीजों जैसे आइसक्रीम, फ्रिज का पानी, शीतल पेय आदि का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से बढ़ जाता है।

कैसे बचाएं खुद को स्वाइन फ्लू के खतरे से, कहीं ऐसा महसूस तो नहीं करते हैं आप!

बासी भोजन करने से भी यह परेशानी बढ़ जाती है। इसके अलावा अधिक पर्शिम और ज्यादा रात तक जागने से, चिंता, शोक, दुख, क्रोध आदि भी वात बढ़ाने का काम करते हैं। शरीर में वात दोष के बढ़ने में मौसम की भी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जानते हैं, जोड़ों के दर्द व सूजन को कम करने के उपायों के बारे में। जोड़ों के दर्द से परेशान लोगों के लिए नियमित दिनचर्या का पालन करना बहुत जरूरी होता है। ऐसे रोगी के लिए समय पर सोने, समय पर जगने के साथ ही अच्छी नींद लेना और रोज व्यायाम करना बहुत जरूरी होता है। इसके साथ ही, उन्हें हल्के और सुपाच्य आहार का सेवन करना चाहिए। खाने में घी, दूध, ताजी रोटियां, आसानी से पचने वाली सब्जियां जैसे परवल, टिंडा, कद्दू, तोरई, लौकी, चुकंदर, गाजर, मूंग की दाल आदि का सेवन करना चाहिए।

सांवले रंग को कहें BYE-BYE, गोरा रंग पाने के सबसे सरल उपाय

फलों में पपीता, सेब, अंगूर, तरबूज, खरबूज, अंजीर, मुनक्का, किशमिश और भीगे बादाम का सेवन फायदेमंद रहता है। अदरक, लहसुन, लौंग, अजवाइन, धनिया, सोंठ, काली मिर्च आदि का सेवन करना लाभदायक होता है। सप्ताह में एक बार उपवास करने से भी जोड़ों की सूजन में आराम मिलता है।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, कुछ अन्य महत्वपूर्ण उपाए -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top