logo
Breaking

ऐसे रखें आंखों की रोशनी को सलामत

अपनी पीठ के बल लेट जाएं, इसके बाद एक साथ, अपने पैरों, कूल्हे और फिर कमर को उठाएं। सारा भार आपके कन्धों पर आना चाहिए और ऐसा होते ही अपनी पीठ को अपने हाथों से सहारा दें।

ऐसे रखें आंखों की रोशनी को सलामत

आंखों की कमजोर होती रोशनी की परेशानी से देशभर में कई लोग पीड़ित हैं। आज ज्यादातर लोग अपनी खराब जीवन शैली के चलते इसका शिकार हो रहे हैं। पौष्टिक आहार न लेना, व्यायाम न करना और घंटो कम्प्यूटर-मोबाइल का इस्तेमाल करने से लोगों को चश्मा लग जाता है।

ऐसे में आप योगा का सहारा लेकर अपनी इस समस्या को दूर कर सकते हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ प्राणायाम और आसन जिनसे आप अपनी आंखों की रोशनी बनाए रख सकते हैं।

अनुलोम विलोम प्राणायाम

आंखों की रोशनी के लिए यह योगा की एक बढ़िया एक्सरसाइज है और इसे करना भी आसान है। सबसे पहले चौकड़ी मार कर बैठ जाएं। कमर और गर्दन को सीधा रखें।

अब आंखें बंद करके प्राणायाम करने के लिए दाहिने हाथ के अंगूठे से पहले दाएं नासारन्ध्र (नाक का छेद) को बंद कर लें। अब बाएं नासारन्ध्र से धीरे-धीरे जितना संभव हो सांस लें और उसे दूसरी उंगली से बंद कर लें।

इसके बाद दाईं नासिका से भरी गई सांस धीरे-धीरे बाहर निकाल दें। इसी प्रक्रिया उल्टी दिशा में भी दोहराएं। इस प्रणायाम को 3 से 5 मिनट तक करने से काफी लाभ होगा।

सर्वांगासन

इसे करने के लिए अपनी पीठ के बल लेट जाएं। इसके बाद एक साथ, अपने पैरों, कूल्हे और फिर कमर को उठाएं। सारा भार आपके कन्धों पर आना चाहिए और ऐसा होते ही अपनी पीठ को अपने हाथों से सहारा दें।

हाथों को पीठ के साथ रखें, कन्धों को सहारा देते रहें। कोहनियों को ज़मीन पर दबाते हुए और हाथों को कमर पर रखते हुए, अपनी कमर और पैरों को सीधा रखें। अपने पैरों को सीधा व मज़बूत रखें।

लंबी गहरी सासें लें और 30 से 60 सेकंड तक आसन में ही रहें। आसन पूरा करने के लिए घुटनों को धीरे से माथे के पास लाएं। हाथों को ज़मीन पर रखें और बिना सिर उठाए धीरे-धीरे कमर को नीचे लें करें।

शवासन

इस आसन को करना बेहद आसान है। इसे करने के लिए आप जमीन पर सीधे लेंट जाएं और अपने शरीर को एक दम रिलैक्स मुद्रा में छोड़ दें। यह गर्दन और रीढ़ ही हड्डी के लिए काफी लाभदायक है और इसे करने से आपकी कमर भी सीधी होती है।

इस आसन को करने के लिए आपको अपने शरीर को निष्क्रिय छोड़ देना है। वहीं हाथ पैरों को एक दूसरे से थोड़ी दूरी पर रखें और गहरी और लंबी सांसें लें।

Share it
Top